Home /News /madhya-pradesh /

Ayodhya Verdict : CM कमलनाथ ने की अमन-चैन की संस्कृति कायम रखने की अपील

Ayodhya Verdict : CM कमलनाथ ने की अमन-चैन की संस्कृति कायम रखने की अपील

बीजेपी की गुमराह करने वाली सियासत को झारखंड की जनता ने कहा बाय बाय-सीएम कमलनाथ

बीजेपी की गुमराह करने वाली सियासत को झारखंड की जनता ने कहा बाय बाय-सीएम कमलनाथ

सीएम कमलनाथ (cm kamalnath) ने मध्य प्रदेश (madhya pradesh) की सर्वधर्म समभाव की संस्कृति की याद दिलायी है. उन्होंने लिखा-प्रदेश की गंगा-जमुनी संस्कृति के अनुरूप हम सभी को अपना भाईचारा (appeal for peace and harmony) आपसी सौहार्द्र और सद्भाव क़ायम रखना है.

अधिक पढ़ें ...
    भोपाल. राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद (Ram Janmabhoomi Babri Masjid Case) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले को देखते हुए  मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (cm kamalnath) सहित सभी दलों के नेताओं और धर्मगुरुओं ने अदालत के फैसले का सम्मान और अमन-चैन (appeal for peace and harmony ) बनाए रखने की अपील की है. पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह और शिवराज सिंह चौहान ने भी अदालत के फैसले का सम्मान करने की अपील जनता से की है.

    अमन-चैन की अपील
    मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट के ज़रिए प्रदेश की जनता से अपील की है. उन्होंने लिखा है-अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को ध्यान में रखते हुए मैं प्रदेश की जनता से अमन-चैन,शांति और सद्भावना की अपील करता हूं. सीएम ने आगे लिखा-मैं हर वर्ग से अपील करता हूं कि सभी मिलजुलकर उसका सम्मान और आदर करें.



    संस्कृति का रखें ख़्याल
    अगले ट्वीट में सीएम कमलनाथ ने मध्य प्रदेश की सर्वधर्म समभाव की संस्कृति की याद दिलायी है. उन्होंने लिखा-प्रदेश की गंगा-जमुनी संस्कृति के अनुरूप हम सभी को अपना भाईचारा क़ायम रखते हुए आपसी सौहार्द्र और सद्भाव क़ायम रखना है.किसी भी प्रकार की अफ़वाहों से सावधान और सजग रहें. क़ानून व्यवस्था के पालन में सभी सहयोग करें.

    दिग्विजय सिंह की अपील
    कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया कि-राम मंदिर पर जो भी अदालत का फैसला हो, वो हमें सहर्ष स्वीकार करना चाहिए. गुरू नानक जी के 550वें प्रकाश पर्व पर यही सबसे उचित संदेश होगा.


    शिवराज का संदेश
    पूर्व सीएम और बीजेपी नेता शिवराज सिंह ने अपनी अपील में लिखा-हम सभी प्रदेशवासियों से अपील करते हैं कि भगवान श्रीराम की जन्मभूमि के बारे में माननीय सर्वोच्च न्यायालय का फैसला,समाज का हर वर्ग स्वीकार करे. उस फैसले का सम्मान करे. हम सब मिलकर प्रदेश में शांति, सद्भाव, स्नेह, आत्मीयता बनी रहे, इसका प्रयास करें.मेरी सभी राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं, सामाजिक- धार्मिक संगठनों तथा स्वयंसेवी संस्थाओं के सदस्यों से अपील है कि देश में सामाजिक सौहार्द्र कायम रखने में अपना योगदान दें.



    ये भी पढ़ें-अयोध्या पर फैसले से पहले रामजन्भूमि न्यास के महंत सीताराम दास ने की ये अपील

    MP विधानसभा में 41% MLA दागी? 'तुम्हारी कमीज पर ज्यादा दाग' पर उलझे नेता

     

    Tags: Ayodhya Verdict, Babri Masjid Demolition Case, Kamal nath, Madhya pradesh news, Ram janambhumi controversy

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर