मुख्यमंत्री 2013 से जून 2018 तक की गई घोषणाओं की करेंगे समीक्षा

न्यूज 18 की खबर का असर बड़ा असर हुआ है.सीएम ने आज मंत्रालय में लंबित घोषणाओं की समीक्षा के लिए सभी विभागों के अफसरों की बैठक बुलाई है.

Manoj Kumar Rathor | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 14, 2018, 11:29 AM IST
मुख्यमंत्री 2013 से जून 2018 तक की गई घोषणाओं की करेंगे समीक्षा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
Manoj Kumar Rathor | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 14, 2018, 11:29 AM IST
न्यूज 18 की खबर का असर बड़ा असर हुआ है.सीएम की लंबित घोषणाओं को लेकर प्रमुखता से दिखाई गई खबर के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान एक्शन में आ गए हैं. सीएम ने आज मंत्रालय में लंबित घोषणाओं की समीक्षा के लिए सभी विभागों के अफसरों की बैठक बुलाई है. आपको बता दें कि न्यूज18 ने 10 मई को सीएम की घोषणाओं और विकास की धीमी रफ्तार को लेकर प्रमुखता से खबर दिखाई थी. खबर में बताया गया था कि पूरे प्रदेश भर में बीते 14 सालों में मुख्यमंत्री, मंत्री, विधायक, पार्षद और दूसरे जनप्रतिनिधियों ने 1.25 लाख करोड़ के विकास कार्यों का भूमिपूजन तो किया लेकिन यह सभी विकास कार्य सिर्फ भूमिपूजन और लोकार्पण तक सिमट कर रहे गए.

सीएम ने अपने कार्यकाल में करीब 33 हजार घोषणाएं की जिसमें से 1500 से अधिक घोषणाएं आज भी लंबित है.कांग्रेस ने 22 हजार घोषणाएं लंबित होने का दावा भी किया था. खबर का असर हुआ और सीएम ने मंत्रालय में लंबित घोषणाओं की समीक्षा के लिए विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और सचिव को बैठक में बुलाया है. बताया जा रहा है कि बैठक में सीएम शिवराज सिंह चौहान लंबित घोषणाओं के तेजी से क्रियान्वयन के लिए अफसरों को सिंतबर तक का समय देंगे. इस प्रकार कांग्रेस के आरोपों के जवाब के साथ चुनावी वर्ष में जनता के सामने सरकार के कामों का लेखा-जोखा प्रस्तुत करने को एक बहाना रहेगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर