चिटफंड कंपनियों पर अब ईडी ने कसा शिकंजा, तीन शहरों की पुलिस से मांगी जानकारी

चिटफंड कंपनी साईं प्रकाश की अरबों रुपये की चीटिंग के खुलासे के बाद ईडी यानि प्रवर्तन निदेशालय भी हरकत में आ गया है. ईडी ने चिटफंड कंपनियों और इनके जरिए ब्लैकमनी को सफेद करने के रैकेट पर नकेल कसने की कार्रवाई भी शुरु कर दी है.
चिटफंड कंपनी साईं प्रकाश की अरबों रुपये की चीटिंग के खुलासे के बाद ईडी यानि प्रवर्तन निदेशालय भी हरकत में आ गया है. ईडी ने चिटफंड कंपनियों और इनके जरिए ब्लैकमनी को सफेद करने के रैकेट पर नकेल कसने की कार्रवाई भी शुरु कर दी है.

चिटफंड कंपनी साईं प्रकाश की अरबों रुपये की चीटिंग के खुलासे के बाद ईडी यानि प्रवर्तन निदेशालय भी हरकत में आ गया है. ईडी ने चिटफंड कंपनियों और इनके जरिए ब्लैकमनी को सफेद करने के रैकेट पर नकेल कसने की कार्रवाई भी शुरु कर दी है.

  • Share this:
चिटफंड कंपनी साईं प्रकाश की अरबों रुपये की चीटिंग के खुलासे के बाद ईडी यानि प्रवर्तन निदेशालय भी हरकत में आ गया है. ईडी ने चिटफंड कंपनियों और इनके जरिए ब्लैकमनी को सफेद करने के रैकेट पर नकेल कसने की कार्रवाई भी शुरु कर दी है.

ईडी ने राजधानी भोपाल समेत इंदौर और ग्वालियर जिले की पुलिस से उन दस्तावेजों की कॉपी मांगी है जिन कंपनियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया है और कोर्ट में चार्जशीट पेश किया जा चुका है. ताकि पीएमएलए यानि प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉड्रिंग एक्ट के तहत कार्रवाई की जा सकें.

इंदौर जिला प्रशासन ने ईडी को 18 कंपनियों के नाम भी बताए हैं जो चिटफंड कारोबार से जुड़ी हैं. इनमें चार दिन पहले महू से गिरफ्तार पुष्पेन्द्र सिंह बघेल की कंपनी साईं प्रकाश आर्गेनिक फूड लिमिटेड और साईं प्रकाश प्रापर्टी डेवलपमेंट लिमिटेड भी शामिल हैं. आरोपी पुष्पेन्द्र की साईं प्रकाश पॉवर लिमिटेड समेत कई और कंपनियों का भी पता चला है. पुष्पेन्द्र सिंह बघेल से भोपाल पुलिस की पूछताछ जारी है और अब छत्तीसगढ़ पुलिस भी जांच के लिए भोपाल पहुंच गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज