शूटिंग में देश के लिए खिताब जीतकर लाने के लायक हो गई है चिंकी
Bhopal News in Hindi

शूटिंग में देश के लिए खिताब जीतकर लाने के लायक हो गई है चिंकी
चिंकी यादव (शूटर)  फोटो- ईटीवी

हौसले बुलंद हों तो मुश्किलें आसान हो जाती हैं. भोपाल की चिंकी को आसमान छूने की चाहत ने ही शूटिंग चैंपियन बना दिया. चिंकी के पिता इलेक्ट्रिशियन हैं और बेटी अब इस लायक है कि देश के लिए खिताब जीतकर ला सके.

  • Share this:
हौसले बुलंद हों तो राह की सारी मुश्किलें आसान हो जाती हैं. भोपाल की चिंकी को आसमान छूने की चाहत ने ही शूटिंग चैंपियन बना दिया.

चिंकी के पिता इलेक्ट्रिशियन हैं. भोपाल के टीटी नगर स्टेडियम में इलेक्ट्रिशीयन का काम करते हैं और बेटी अब इस लायक हो गई है कि देश के लिए खिताब जीतकर ला सके. एमपी की खेल मंत्री की मानें तो चिंकी देश की चैंपियन है और जब वह सीनियर लेवल पर खेलेगी तो देश का हर शख्स उस पर नाज करेगा.

शूटिंग खिलाड़ी चिंकी ने जूनियर लेवल पर देश का पिछले तीन सालों से नाम रोशन किया है. हाल में अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ (आईएसएसएफ) जूनियर विश्व चैम्पियनशिप (राइफल/पिस्टल) में भारत ने दूसरे स्थान पर रहते हुए अपना अभियान समाप्त किया.



इसी स्पर्धा के टीम वर्ग में भारतीय महिला टीम को कांस्य पदक मिला. फाइनल में चिंकी यादव और गौरी श्योरान के साथ मुस्कान ने महिलाओं की टीम स्पर्धा में कांस्य पदक जीता.  चिंकी के पिता का कहना है कि जब उनकी बेटी लौटेगी तो जश्न मनेगा.
चिंकी ने पिछले साल जर्मनी में आयोजित इंटरनेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में गोल्ड जीता था.
25वीं मीटिंग ऑफ द शूटिंग में भी सिल्वर जीता. 2013 और 2014 में हुई चैंपियनशिप में चिंकी ने अब तक 2 गोल्ड, 3 सिल्वर, 3 ब्रोंज मेडल हासिल किए हैं.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज