Home /News /madhya-pradesh /

भोपाल: बाढ़ पीड़ितों की मदद को स्टेट कमांड सेंटर इस तरह कर रहा काम, 10 हजार लोगों की जान बचाने का दावा

भोपाल: बाढ़ पीड़ितों की मदद को स्टेट कमांड सेंटर इस तरह कर रहा काम, 10 हजार लोगों की जान बचाने का दावा

बाढ़ पीड़ितों के लिए स्टेट कमांड सेंटर तैयार,एक कॉल पर मदद कर रहे जवान

बाढ़ पीड़ितों के लिए स्टेट कमांड सेंटर तैयार,एक कॉल पर मदद कर रहे जवान

बाढ़ में फंसे लोगों की मदद और उनकी जान बचाने का काम स्टेट कमांड सेंटर कर रहा है. यहां हर रोज 200 से अधिक कॉल आ रहे हैं और अब तक 10 हजार लोगों की जान बचाने का दावा किया जा रहा है.

भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है. बाढ़ में फंसे लोगों की मदद और उनकी जान बचाने का काम स्टेट कमांड सेंटर (State Command Center) कर रहा है. यहां हर रोज 200 से अधिक कॉल आ रहे हैं और अब तक 10 दिनों में 10 हजार लोगों की जान बचाने का दावा किया जा रहा है. सर्वाधिक मदद की पुकार ग्वालियर चंबल संभाग से लगाई जा रही है. कॉल सेंटरों से टीम एक कॉल पर तत्काल लोगों तक मदद पहुंचाती है. बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित जगह ले जाती हैं. कॉल आने के बाद यहां से लोगों को हर संभव मदद दी जा रही है.

स्टेट कमांड सेंटर को मॉनसून के स्वागत के साथ ही शासन-प्रशासन बाढ़ और अतिवृष्टि से निपटने के लिए तैयार किया गया है. राजधानी भोपाल में होमगार्ड और स्टेट डिजास्टर इमरजेंसी रिस्पांस फोर्स ने मिलकर स्टेट कमांड सेंटर बनाया है. इस सेंटर का न्यूज़ 18 की टीम ने हाल जाना है. इस सेंटर में टोल फ्री नंबर पर आने वाली सूचनाओं को जिला स्तर पर तैनात टीमों को भेजा जाता है. ये सूचना मैसेज के जरिए कलेक्टर, एसपी, आपदा से जुड़े तमाम प्रशासनिक अधिकारियों और एसडीईआरएफ की टीमों के सदस्यों के मोबाइल पर भेजी जाती हैं. पहले से तैनात टीमें शहरों में पांच मिनट के अंदर और शहरों में भौगोलिक स्थिति के हिसाब से तत्काल रिस्पांस करती हैं.

स्टेट कमांड सेंटर के टोल फ्री नम्बर 1070, 1078 हैं. इन नम्बर पर बाढ़ जैसे कॉल आ रहे हैं. एक दिन में करीब 200 कॉल मदद और सहायता मांगने के लिए आते हैं. सबसे ज्यादा कॉल ग्वालियर चंबल संभाग से आ रहे हैं. इस कमांड सेंटर की मदद से पिछले 10 दिनों में करीब 10 हजार लोगों की जान बचाई गई है. लोगों को सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया जा रहा है. कॉल सेंटर की सूचना पर PC, DC, QRT और डिजास्टर रिस्पांस सेंटर की टीमें तत्काल मदद पहुंचाती हैं. प्रदेश में SDRF के 5500 हजार जवान तैनात, होमगार्ड के 10 हजार जवान और NDRF के करीब 300 जवान तैनात हैं.

कमांड सेंटर से सीधे सूचना जिले में तैनात इमरजेंसी ऑपरेटिंग टीम (EOC), डिजास्टर रिस्पांस सेंटर(DRC), क्विक रिस्पॉन्स टीम (QRT) को भेजी जाती है. प्रदेश के चिन्हित 300 से ज्यादा स्थानों पर डिजास्टर रिस्पांस सेंटर बनाए गए हैं. रेस्क्यू के लिए सिविल डिफेंस के 1 लाख वॉलेन्टियर्स की टीम भी तैनात है.

Tags: Bhopal news, Flood Victims, Gwalior Chambal Flood, Madhya pradesh news, Shivraj singh chouhan, State Command Center, मध्य प्रदेश

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर