मध्य प्रदेश में आज जमकर बरसेंगे बादल, आंधी और तूफान आने की भी है संभावना
Bhopal News in Hindi

मध्य प्रदेश में आज जमकर बरसेंगे बादल, आंधी और तूफान आने की भी है संभावना
अरब सागर (Arab Sea) में उठने वाले समुद्री तूफान (Strom) का मध्य प्रदेश में भी असर दिखाई देगा.. इसका सबसे ज्यादा असर इंदौर और उज्जैन संभागों के जिलों में दिखाई देगा. पश्चिमी मध्य प्रदेश में 3, 4 और 5 जून को भारी बारिश हो सकती है.

अरब सागर (Arab Sea) में उठने वाले समुद्री तूफान (Strom) का मध्य प्रदेश में भी असर दिखाई देगा.. इसका सबसे ज्यादा असर इंदौर और उज्जैन संभागों के जिलों में दिखाई देगा. पश्चिमी मध्य प्रदेश में 3, 4 और 5 जून को भारी बारिश हो सकती है.

  • Share this:
भोपाल. नौतपा के आखिरी दिनों में लोगों को बढ़ते तापमान से राहत मिली और आज प्रदेश भर में मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा. दरअसल अरब सागर (Arab Sea) में उठने वाले समुद्री तूफान (Storm) का मध्य प्रदेश में भी असर दिखाई देगा. आज से भोपाल के साथ पश्चिमी मध्य प्रदेश के ज्यादातर जिलों में तेज आंधी तूफान के साथ भारी बारिश (Heavy Rain)  की संभावना है. भोपाल में सुबह से ही मौसम का बदला हुआ मिज़ाज़ देखने को मिल रहा है. तेज़ हवाएं चलने के साथ हल्की बूंदाबांदी भी हो रही है.

इंदौर उज्जैन की संभागों में भारी बारिश के आसार

मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला का कहना है कि तूफान का प्रभाव अब मध्य प्रदेश में भी दिखाई देगा. इसका सबसे ज्यादा असर इंदौर और उज्जैन संभागों के जिलों में दिखाई देगा. इंदौर और उज्जैन संभागों के इंदौर, उज्जैन, नीमच, मंदसौर, धार रतलाम, झाबुआ, अलीराजपुर और बड़वानी में भारी बारिश की आशंका है. पश्चिमी मध्य प्रदेश में 3, 4 और 5 जून को भारी बारिश हो सकती है. 60 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं और गरज चमक के साथ कहीं कहीं बिजली गिरने की भी संभावना है.



अरब सागर में बन रहे चक्रवात का दिखेगा असर



भोपाल सहित मध्य प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाले सिस्टम सक्रिय है. पहला अरब सागर में एक आबदाब बना हुआ है जो पंजिम से 340 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में स्थित है. इसके आगे और गहरा होकर गहरे अवध में बदलने की संभावना है. यह आगे 24 घंटों में साइक्लोन या चक्रवात में बदलने की संभावना है..2 जून के सुबह तक उत्तरी दिशा में आगे बढ़ेगा. उसके बाद रिवर्ट होकर उत्तर उत्तर पूर्व दिशा से उत्तरी महाराष्ट्र एवं दक्षिण गुजरात को हरिहरेश्वर और दमन के बीच 3 जून को शाम या रात को पार करने की संभावना है. दूसरा एक द्रोणिका उत्तर पश्चिमी उत्तर प्रदेश से उड़ीसा के अंदरूनी हिस्से तक हवा के ऊपरी भाग में 900 मीटर की ऊंचाई पर बनी हुई है, जो पूर्वी मध्य प्रदेश से होकर गुजर रही है. दक्षिण पश्चिम में मानसून आज 1 जून को अपने निर्धारित समय पर केरल में ऑनसेट हो गया है. मानसून की उत्तरी सीमा दक्षिणी अरब सागर और लक्ष्यदीप क्षेत्र मालदीव के शेष हिस्से केरल के अधिकांश हिस्से तमिलनाडु पांडिचेरी एवं कराईकाल के कुछ हिस्से पर पहुंच गया है.

भोपाल में बदला मौसम

नौतपा के आखिरी दिन भोपाल मे मौसम का अलग रंग देखने को मिला. सुबह से ही आसमान में बादल छाए हुए हैं तो वही तेज हवाएं चलने के साथ हल्की-हल्की बूंदाबांदी भी हो रही है. हल्की बूंदाबांदी और और तेज हवाएं चलने से मौसम में ठंडक खुल गई है.

मध्य प्रदेश में 20 जून तक दस्तक देगा मानसून

केरल में तय समय पर मानसून ने दस्तक दे दी है..एक जून को केरल में मानसून पहुंच चुका है. मध्य प्रदेश में 20 जून तक मानसून के पहुंचने की संभावना है. यानी तय समय से कुछ दिनों की देरी से मध्य प्रदेश में मानसून दस्तक देगा.

एमपी में 96 से 104 प्रतिशत बारिश होने की संभावना

मध्य प्रदेश में जून से सितंबर तक 96 से 104 फीसदी बारिश होने के आसार है. मध्य भारत में 103 प्रतिशत बारिश होगी. इसमें 8% कम या ज्यादा हो सकता है. जुलाई में 103% प्रतिशत या इससे 9% कम या ज्यादा बारिश हो सकती है. अगस्त में 97 फ़ीसदी बारिश होने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें: इंदौर नगर निगम ने मुफ्त राशन बंद किया, आयुक्त ने कहा- अब इसकी जरूरत नहीं

MP: इस अस्पताल ने देश में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज को स्वस्थ करने का किया दावा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading