MP कांग्रेस अध्यक्ष पद से कमलनाथ ने की इस्तीफे की पेशकश, पार्टी का खंडन

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के महासचिव दीपक बाबरिया ने कहा है कि सीएम कमलनाथ ने पार्टी के राज्य अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की है. जबकि राज्य कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कमलनाथ के इस्तीफे की पेशकश की खबरों को भ्रामक बताया है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: May 25, 2019, 9:52 PM IST
MP कांग्रेस अध्यक्ष पद से कमलनाथ ने की इस्तीफे की पेशकश, पार्टी का खंडन
file photo
News18 Madhya Pradesh
Updated: May 25, 2019, 9:52 PM IST
मध्य प्रदेश में कांग्रेस के महासचिव दीपक बाबरिया ने कहा है कि सीएम कमलनाथ ने पार्टी के राज्य अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की है. लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन को लेकर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते सीएम कमलनाथ ने ऐसी पेशकश की है. गौरतलब है कि शनिवार को ही कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अपने इस्तीफे की पेशकश की थी लेकिन इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया.

मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनावों में कामयाबी के बाद ऐसी उम्मीद की जा रही थी कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करेगी. लेकिन इस चुनाव के नतीजे पिछली बार से भी खराब साबित हुए हैं. पार्टी के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपने घर गुना से हार का मुंह देखना पड़ा है. कमलनाथ न सिर्फ राज्य के सीएम हैं बल्कि पार्टी के राज्य अध्यक्ष भी हैं. ऐसे में ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि उनकी तरफ से इस्तीफे की पेशकश की जा सकती है.





पार्टी का इंकार
Loading...

राज्य कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कमलनाथ के इस्तीफे की पेशकश की खबरों को भ्रामक बताया है. उन्होंने कहा है कि सीएम की तरफ से ऐसे किसी इस्तीफे की पेशकश नहीं की गई है.  मीडिया में चल रही खबरें भ्रामक और असत्य हैं.

2014 से बुरी हार

2014 के लोकसभा चुनावों में जब देशभर में मोदी लहर थी तब भी कांग्रेस ने राज्य में दो सीटों पर विजय पाई थी. छिंदवाड़ा और गुना के दुर्ग कांग्रेस ने बचा लिए थे. इस बार ऐसा माना जा रहा था कि राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पार्टी को फायदा होगा. लेकिन नतीजे बिल्कुल उलट निकले. राज्य में सिर्फ एक सीट पार्टी बचा पाई. कांग्रेस के अभेद्य किले के रूप में मशहूर रहे गुना से भी ज्योतिरादित्य सिंधिया को हार का सामना करना पड़ा. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भोपाल से बुरी तरह हार गए.

ये भी पढ़ें:

कमलनाथ की कैबिनेट मंत्री चाहती हैं 'महाराज' को सौंपें कमान


सिंधिया के 'मंत्रियों' के इलाके में हारे दिग्विजय के समर्थक

भविष्यवाणी गलत साबित होने के बाद पलटे कंप्यूटर बाबा, बोले...
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...