उन्नाव की बेटी का परिवार मध्य प्रदेश में बसे, हम देंगे सुरक्षा: कमलनाथ

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी की रायबरेली जेल में बंद उन्नाव रेप पीड़िता के चाचा को दिल्ली के तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: August 2, 2019, 4:27 PM IST
उन्नाव की बेटी का परिवार मध्य प्रदेश में बसे, हम देंगे सुरक्षा: कमलनाथ
कमलनाथ
News18 Madhya Pradesh
Updated: August 2, 2019, 4:27 PM IST
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्नाव गैंगरेप पीड़ित केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य है. उन्होंने उन्नाव की बेटी के परिवार से अपील की है कि वो मध्य प्रदेश आकर बसे, सरकार उन्हें सुरक्षा देगी.

सुरक्षा हम देंगे
उन्नाव रेप मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर अपनी बात कही. उन्होंने लिखा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य है. यूपी को असुरक्षित मानकर छोड़ने का निर्णय ले चुकी पीड़िता की मां और परिवार से मैं अपील करता हूं कि वो सभी मध्य प्रदेश आकर बसने का निर्णय लें. हमारी सरकार आपके पूरे परिवार की रक्षा करेगी.

उन्नाव दुष्कर्म मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला स्वागत योग्य।




इलाज हम कराएंगे
अगले ट्वीट में सीएम कमलनाथ ने कहा कि अगर बच्ची परिवार यहां आता है तो हम उसका बेहतर इलाज कराएंगे. उसकी बेहतर शिक्षा से लेकर सम्पूर्ण दायित्व हम निभाएंगे. परिवार को हम किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होने देंगे. सीएम ने लिखा-दिल्ली केस ट्रांसफ़र होने के कारण आपके दिल्ली आने- जाने की भी पूर्ण व्यवस्था करेंगे. हम बेटी का प्रदेश की बच्ची तरह खयाल रखेंगे.


सुप्रीम कोर्ट का फैसला
सुप्रीम कोर्ट ने यूपी की रायबरेली जेल में बंद उन्नाव रेप पीड़िता के चाचा को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है. शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की बेंच ने यह आदेश पारित किया. दरअसल पीड़िता के वकील ने उसके चाचा की जान को खतरा बताते हुए उन्हें तिहाड़ जेल शिफ्ट करने की मांग की थी.

ये भी पढ़ें-लैंड रिकॉर्ड बाबू के घर लोकायुक्त का छापा, चोर ने खोली पोल

फैक्ट्री में पिस रही थी फफूंद लगी मिर्च,सल्फर से रंगी धनिया

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी


First published: August 2, 2019, 3:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...