• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • सतना हत्याकांड : सीएम कमलनाथ बोले- बच्चों की मौत से मन बहुत परेशान है

सतना हत्याकांड : सीएम कमलनाथ बोले- बच्चों की मौत से मन बहुत परेशान है

File Photo

File Photo

भगवान कामतानाथ की नगरी में हुआ ये हादसा बेहद दर्दनाक व दुखद है. दो मासूम जुड़वा भाइयों श्रेयांश और प्रियांश का सकुशल वापस नहीं आना मेरे लिए एक बेहद दुखद और द्रवित करने वाली घटना है.

  • Share this:
    भगवान कामतानाथ की नगरी में हुआ ये हादसा बेहद दर्दनाक व दुखद है. दो मासूम जुड़वा भाइयों श्रेयांश और प्रियांश का सकुशल वापस नहीं आना मेरे लिए एक बेहद दुखद और द्रवित करने वाली घटना है. एक दिल को झकझोर देने वाली घटना है. इस घटना से मेरा मन व्यथित है,बेचैन है.बच्चों के पिता से हुई बातचीत के बाद से मेरा मन उद्वेलित हो गया.रात को भी इस घटना ने मुझे व्यथित और बेचैन किया. मुझे ये लगा कि क्यों बच्चे सकुशल वापस नहीं आ पाये?

    मैं इस मामले में पड़ना नहीं चाहता कि आरोपी कौन थे,किस से जुड़़े हुए थे, उनकी गाड़ियों पर किस के झंडे लगे हुए थे, क्या लिखा हुआ था,उन्हें किसका संरक्षण रहा. पड़ौसी राज्य की क्या भूमिका रही.अपराधी कहां के थे.उन्होंने इस वारदात को कहां अंजाम दिया. कहां बच्चों को छिपा का रखा था. वो बच्चों को किस राज्य में लेकर घूमते रहे ?

    ये भी पढ़ें - सतना हत्याकांड : दुनिया में साथ आए थे और एक ही अर्थी पर विदा हो गए श्रेयांस-प्रियांश

    सीएम कमलनाथ ने आगे लिखा, मैंने अभी DGP को निर्देश दिए हैं कि इन 12 दिन में पुलिस की जांच की रिपोर्ट अभी तलब करें और देखें इन 12 दिनों में पुलिस ने क्या-क्या किया? उनकी क्या भूमिका रही ?
    इस मामले में लापरवाही और दोषी सामने आने पर किसी भी अधिकारी को नहीं बख्शा जाए. वो चाहें छोटा हो या बड़ा, उन पर कार्रवाई करें. इस बेहद दुखद घटना में जिस भी अधिकारी की लापरवाही सामने आए उसे में बर्दाश्त नहीं करूंगा.

    ये भी पढ़ें - PHOTOS : सतना हत्याकांड : गुस्से से भरे लोग सड़क पर उतरे, शिवराज ने निकाला मौन जुलूस

    मैंने डीजीपी को कहा है कि वो पूरे प्रदेश की पुलिस को एक बार फिर कड़े निर्देश जारी करें.कानून-व्यवस्था मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता है. इसमें ज़रा भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं करूंगा. चाहें कितना भी बड़ा अधिकारी हो.लॉ एन्ड ऑर्डर बनाए रखने के लिए पुलिस को मैंने पूरे प्रदेश में फ्री हैंड कर दिया है. वो अपराधी तत्वों के ख़िलाफ़ सतत मुहिम चलाए.

    अपराधी तत्वों और गुंडों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करें.किसी को भी नहीं छोड़ें. मादक पदार्थों के अवैध व्यापार को नेस्तनाबूद करें. जुए- सट्टे के अड्डे को ध्वस्त करें. सीएम कमलनाथ ने आगे लिखा कि स्कूल कॉलेज के आसपास चलने वाले नशे के व्यापार को पुलिस खत्म करे.मैंने डीजीपी को यह भी कहा है कि सद्गुरु सेवा संस्थान,जहां बच्चे पढ़ते थे, उस स्कूल की भूमिका की भी जांच हो. स्कूल प्रशासन की भी यदि इसमें लापरवाही सामने आए तो उन पर भी कार्रवाई करें.बच्चे तो वापस नहीं आ सकते लेकिन दोषियों को ऐसी कड़ी से कड़ी सजा मिले कि लोग वर्षों तक याद रखें.इस केस को फास्ट्रेक न्यायालय में तो चलाएंगे ही,दोषियों को फांसी की सजा मिले इसको लेकर पुलिस गंभीर प्रयास करे.

    सीएम कमलनाथ ने साफ कहा कि इस तरह के अपराध करने वाले संगठित गिरोह प्रदेश में जहां कहीं भी दिखें पुलिस उन पर कड़ी कार्रवाई करे.ऐसी घटनाओं में पुलिस अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करें. बच्चों के परिजनों से बात करें कि क्या वे पुलिस की 12 दिन की जांच से संतुष्ट थे. वो इस मामले में जिस भी अधिकारी की लापरवाही बताएंगे तो उस पर अविलंब कड़ी कार्रवाई की जाए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज