कमलनाथ को सता रही सरकार गिरने की चिंता, 11 दिन में तीसरी बार बुलाई विधायकों की बैठक

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी पार्टी के विधायकों व सरकार को समर्थन दे रहे सपा, बसपा और निर्दलीय विधायकों की 17 जुलाई को फिर से बैठक बुलाई है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: July 15, 2019, 10:58 AM IST
कमलनाथ को सता रही सरकार गिरने की चिंता, 11 दिन में तीसरी बार बुलाई विधायकों की बैठक
कमलनाथ ने विधायकों की 17 जुलाई को फिर से बैठक बुलाई है.
News18 Madhya Pradesh
Updated: July 15, 2019, 10:58 AM IST
मध्य प्रदेश की सत्ता में 15 साल बाद लौटी कांग्रेस सरकार ‘कर्नाटक संकट’ से खौफजदा है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी पार्टी के विधायकों व सरकार को समर्थन दे रहे सपा, बसपा और निर्दलीय विधायकों की 17 जुलाई को फिर से बैठक बुलाई है. कमलनाथ सरकार की बेचैनी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 11 दिन में विधायकों की यह तीसरी बैठक होगी.

बता दें कि कर्नाटक में सत्तारूढ़ जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन के एक दर्जन से अधिक विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है. जिसकी वजह से गठबंधन की सरकार पर खतरा मंडरा रहा है. ऐसे में बीजेपी नेताओं द्वारा कमलनाथ सरकार को गिराने की बयानबाजी पर कमलनाथ सतर्क हो गए हैं. माना जा रहा है कि सरकार गिराने की आशंकाओं के बीच वह लगातार बैठकें बुला रहे हैं.

बीजेपी नेताओं द्वारा कमलनाथ सरकार को गिराने की बयानबाजी पर कमलनाथ सतर्क हो गए हैं.


इससे पहले, सीएम कमलनाथ ने अपनी पार्टी कांग्रेस सहित सपा, बसपा एवं निर्दलीय विधायकों को मध्य प्रदेश विधानसभा के मौजूदा सत्र में मौजूद रहने की बात कही थी. उन्होंने निर्देश दिया था कि सभी विधायक सदन की कार्यवाही के दौरान हमेशा मौजूद रहें, ताकि बेवजह सरकार संकट में न आए.

माना जा रहा है कमलनाथ को इस बात का डर है कि इस सत्र में बजट पेश होने के बाद भाजपा वित्तीय मामलों सहित अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर कभी भी वोटिंग की मांग करने का गेम प्लान कर सकती है.

ये भी पढ़ें- बीजेपी नेता प्रभात झा के ट्वीट से पार्टी में हलचल

ये भी पढ़ें- कर्नाटक की तरह MP सरकार भी संकट में, खोया जनता का भरोसा: BJP
First published: July 15, 2019, 9:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...