लाइव टीवी

IIFA पर उठ रहे सवालों का कमलनाथ ने ब्लॉग लिखकर दिया जवाब, विपक्ष के लिए कही ये बात
Bhopal News in Hindi

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 4, 2020, 9:04 PM IST
IIFA पर उठ रहे सवालों का कमलनाथ ने ब्लॉग लिखकर दिया जवाब, विपक्ष के लिए कही ये बात
सीएम कमलनाथ ने आईफा अवॉर्ड्स को बताया फायदे का कदम.

आईफा अवॉर्ड्स (IIFA Awards) के आयोजन को लेकर उठ रहे सवालों का सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) ने जवाब दिया है. सीएम ने ब्लॉग में लिखा, 'हिंदी सिनेमा की इंद्रधनुषी दुनिया को हिंदुस्तान की कला, संस्कृति, संस्कारों और साहित्य का प्रतिबिंब माना जाता है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में आईफा अवॉर्ड्स (IIFA Awards) आयोजन को लेकर उठ रहे सवालों का सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) ने जवाब दिया है. सीएम ने ब्लॉग के जरिए ना केवल आईफा अवार्ड्स के आयोजन का मकसद और उससे मध्य प्रदेश को होने वाले फायदे बताए हैं, बल्कि प्रदेश के खातिर विपक्ष को भी इस आयोजन में साथ आने का न्यौता दिया है.

सीएम ने अपने ब्लॉग में लिखा, 'हिंदी सिनेमा की इंद्रधनुषी दुनिया को हिंदुस्तान की कला, संस्कृति, संस्कारों और साहित्य का प्रतिबिंब माना जाता है. नई सदी 2000 में अवॉर्ड की बुनियाद यूनाइटेड किंगडम के लंदन शहर में रखी गई. आयोजन इतना सफल रहा कि पूरे ब्रिटेन ने एक स्वर में भारत को कहा ‘हम दिल दे चुके सनम’ और यही वह पहली फिल्म भी थी जिसे सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार मिला.' लंदन आईफा सफलता की अनुगूंज से कई देशों ने इसके आयोजन के लिए अपनी रुचि जाहिर की. दूसरा अवार्ड फंक्शन अफ्रीका के सनसिटी में आयोजित किया गया. फिर मलेशिया, सिंगापुर, नीदरलैंड, दुबई, थाईलैंड, मकाऊ, श्रीलंका, यूएस, स्पेन, थाईलैंड यानी देश दर देश भारत की पहचान दुनिया में फैलती गई.

आईफा का सामाजिक सरोकार
सीएम कमलनाथ ने ब्रिटेन में IIFA के आयोजन के बाद वहां आए सामाजिक बदलाव के बारे में भी लिखा है. उन्‍होंने लिखा कि ब्रिटेन के यॉर्कशायर में रह रहे साउथ एशियन समुदाय के सामाजिक और सांस्कृतिक सरोकारों के तहत ब्रिटेन की सरकार ने दोबारा आईफा को आमंत्रित किया और 2007 में यॉर्कशायर के शेफील्ड में 3 दिन चले उत्साहवर्धक आयोजन ने हमेशा के लिए वहां के लोगों में समरसता का भाव पैदा किया. इतना ही नहीं इस आयोजन से दुनिया में यॉर्कशायर की पहचान और साख स्थापित हुई और वह ब्रिटेन का टूरिज्म का बड़ा सेंटर बनकर उभरा.

IIFA से बताई निवेश की संभावना
उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा, "सिंगापुर में आईफा का आयोजन किया गया. सिंगापुर में इस आयोजन के दौरान वहां की आर्थिक गतिविधि बढ़ गई. तब वहां तय किया गया कि इस आयोजन को लेकर एक स्टडी कराए. इस स्टडी के नतीजों ने सिंगापुर को चौंका दिया. उन्होंने पाया कि शॉर्ट टर्म में तो बाजारों में इस दौरान काफी खरीददारी हुई. होटलों ने बहुत अच्छा कारोबार किया. पर्यटक बड़ी संख्या में आए और 30 प्रतिशत पर्यटन के क्षेत्र में इजाफा हुआ. साथ ही लंबे समय के लिए भी सिंगापुर में बड़ा निवेश आया."

IIFA से बनेगी मध्य प्रदेश की अलग पहचान सीएम कमलनाथ ने आगे लिखा, "यूं तो हमारे प्रदेश के इतिहासकारों, साहित्कारों, कलमकारों और कलाकारों का लोहा पूरी दुनिया ने माना है, लेकिन फिर भी हमारा प्रदेश अपनी साख स्थापित करने के लिए जूझ रहा है. मैं चाहता हूं कि अब पूरी दुनिया में मध्य प्रदेश की पहचान अच्छे संदर्भों में स्थापित हो. इसलिए मैंने आईफा को आमंत्रित किया. मैं हृदय से आभारी हूं कि कई देशों और राज्यों के निमंत्रण के बावजूद आईफा ने हमारा आतिथ्य स्वीकार किया, क्योंकि आईफा सिर्फ सरकारों के साथ ही अपने आयोजन को आकार देता है, चाहे वो देशों की हो या राज्यों की. जैसे ही मध्य प्रदेश में आईफा के आयोजन की तारीखों का ऐलान हुआ, इंदौर के ज्यादातर होटल बुक हो गये हैं. बाजार ने अपने व्यवसाय की तैयारियां शुरू कर दी हैं. प्रदेश के पर्यटन स्थलों में रौनक बढ़ गई. जबकि इवेंट मैनेजमेंट के छात्र भी आयोजन के लिए आतुर हैं. मैं अपने मध्यप्रदेश की गौरवशाली विरासत से आश्वस्त हूं, अब जब हम इस गौरवमयी आयोजन की ओर आगे बढ़ रहे हैं, तब पक्ष, प्रतिपक्ष और समूचा प्रदेश मिलकर प्रदेश की प्रगति के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रकट करेंगे और प्रदेश की प्रतिष्ठा का मान रखेंगे."

 

ये भी पढ़ें-

MP में बिजली की अधिकतम मांग का टूटा रिकॉर्ड, ये लोग ज्यादा जला रहे बिजली?

 

गोविंद सिंह का पलटवार, 'भार्गव बेड़नियां नचा सकते हैं, हम आईफा नहीं कर सकते?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 8:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर