बीजेपी के घोषणा पत्र को कमलनाथ ने बताया 'जुमला पत्र', कहा- गुमराह करने का प्रयास
Bhopal News in Hindi

बीजेपी के घोषणा पत्र को कमलनाथ ने बताया 'जुमला पत्र', कहा- गुमराह करने का प्रयास
मध्य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ, photo

देश भर से प्रतिक्रियाओं का दौर शुरू हो गया है. इसी क्रम में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे जुमला पत्र बताया है.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बीजेपी ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है. इसे संकल्प पत्र नाम से जारी किया गया है. दिल्ली स्थित बीजेपी कार्यालय में इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में इसे जारी किया गया है. इसके बाद देश भर से प्रतिक्रियाओं का दौर शुरू हो गया है. इसी क्रम में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे जुमला पत्र बताया है.

कमलनाथ ने ट्विटर पर लिखा, भाजपा का आज जारी संकल्प पत्र सिर्फ़ जुमला पत्र. 2014 के घोषणा पत्र की पुरानी बातों को दोबारा शामिल कर जनता को गुमराह करने का प्रयास. चाहे राम मंदिर हो , धारा 370 हो , 35 A की बात हो , यह सब पुराने वादे.

उन्होंने आगे लिखा, ' पांच वर्ष बाद भी किसानों की आय दोगुनी के सपने दिखा रहे है. किसानों के उत्थान व उन्हें क़र्ज़ मुक्त बनाने, युवाओं के रोज़गार, जीएसटी से राहत, ग़रीबों, महिलाओं के उत्थान पर कुछ ठोस नहीं सिर्फ़ दिखावटी वादे.'



 



बता दें कि लोकसभा चुनावों को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह, राजनाथ सिंह ने बीजेपी का संकल्प पत्र जारी किया. बीजेपी ने अपने घोषणापत्र का नाम संकल्प पत्र रखा है, इसके कवर पेज पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर है. बीजेपी के घोषणापत्र में वादा किया गया है किसान क्रेडिट कार्ड पर 1 लाख तक के लोन पर पांच साल तक कोई ब्याज नहीं देना होगा.

इसके अलावा 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करेंगे. इसके अलावा घोषणापत्र में कहा गया है कि राम मंदिर निर्माण कराने की पूरी कोशिश की जाएगी. 25 लाख करोड़ ग्रामीण क्षेत्रों में खर्च होंगे. बीजेपी ने राष्ट्रीय व्यापार आयोग बनाने का वादा किया है.

यह भी पढ़ें- आयकर विभाग का छापा जारी, यहां देखें अभी तक के बड़े खुलासे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज