लाइव टीवी

मोदी सरकार के खिलाफ 'बड़ी बैठक' में CM कमलनाथ ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दी नसीहत

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 20, 2019, 4:32 PM IST
मोदी सरकार के खिलाफ 'बड़ी बैठक' में CM कमलनाथ ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दी नसीहत
आर्थिक मंदी पर मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने संगोष्ठी की

सीएम कमलनाथ ने शिवराज सिह को सलाह दी कि यहां नाटक करने की जगह दिल्ली में धरना देकर राज्य को मदद दिलाना चाहिए.कैमरे की राजनीति करने से प्रदेश नहीं सुधरेगा.

  • Share this:
भोपाल. कांग्रेस (congress) ने आर्थिक मंदी के खिलाफ आज भोपाल (bhopal)में बैठक की. ये थी तो केंद्र सरकार के ख़िलाफ लेकिन इसमें सीएम कमलनाथ (cm kamalnath)ने अपने कार्यकर्ताओं को नसीहत दे दी. उन्होंने कहा ज़िम्मेदारी अभी ख़त्म नहीं हुई है इसलिए कार्यकर्ता निश्चिंत होकर ना बैठें.CM ने कहा मैंने वो दौर देखा है जब BJP का माहौल था लेकिन सोनिया गांधी (sonia gandhi)ने BJP को घर बैठा दिया था.

केंद्र की नीतियों और आर्थिक मंदी के विरोध में भोपाल में कांग्रेस की बड़ी बैठक हुई. इसमें बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारी, कार्यकर्ता, विधायक और मंत्री पहुंचे.हॉल में जगह कम पड़ गयी तो कई विधायक मंच के सामने ज़मीन पर बैठ गए.

आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस की संगोष्ठी में पोस्टर में मध्य प्रदेश को मध्य देश लिखा था


इस बड़ी बैठक में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने मन की बात की. सीएम ने कहा-बीते 10 महीनों में कांग्रेस अग्नि परीक्षा से गुजरी. विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली सफलता पिछले 15 साल तक कांग्रेस का झंडा बुलंद करने का नतीजा है. कार्यकर्ताओं की मेहनत के कारण ही 15 साल बाद कांग्रेस की सरकार बनी है. अभी सरकार को काम करने के लिए सिर्फ साढ़े 6 महीने ही मिले हैं. इस दौरान सरकार को कई बड़ी चुनौती मिलीं.

खाली था ख़ज़ाना
सीएम कमलनाथ ने कहा सरकार को शिवराज सरकार ने खाली ख़ज़ाना सौंपा था. खाली खजाना, गिरती अर्थव्यवस्था, बदहाल कृषि व्यवस्था बड़ी चुनौती थी. चुनावी वादे के मुताबिक 1 अगस्त तक 20 लाख किसानों का कर्ज़ माफ़ किया जा चुका है. किसानों के खातों में काफी गड़बड़ी थी. 50 लाख खाते मिले लेकिन हकीकत में 38 लाख किसान ही हैं. एक किसान के कई खाते निकले.सीएम ने कहा 50 हजार रुपए तक के कर्ज़दार किसानों का कर्ज़ माफ़ हुआ. चालू खाते वाले किसानों का 2 लाख तक का कर्ज़ माफ़ होगा.
प्रदेश में बाढ़ से तबाही
Loading...

सीएम कमलनाथ ने कहा प्रदेश में बाढ़ से हुई तबाही से निपटने के लिए सरकार को करोड़ों रुपए चाहिए. पिछले 10 दिन में इसके लिए राशि जुटाने पर मंथन हो चुका है. विंध्य इलाके को छोड़कर बाढ़ ने पूरे प्रदेश में तबाही मचा दी. सरकार हर चुनौती से निपटने के लिए तैयार है.
CM ने मांगी माफ़ी
कमलनाथ ने ज़्यादा समय नहीं दे पाने के लिए कार्यकर्ताओं से माफी मांगी. उन्होंने कहा कांग्रेस परिवार ने मुझे जिम्मेदारी है, उसे मैं पूरा करूंगा. प्रदेश में कहीं भी निराशा का माहौल नहीं है. संगठन में बदलाव पर भी विचार हो रहा है.
कार्यकर्ताओं से अपील
CM ने कार्यकर्ताओं से अपील की कि वो सतर्क और सजग रहें. अभी तो जिम्मेदारी शुरू हुई है, इसे पूरा करना है. BJP मुंह चलाने में माहिर है. उससे बचना चाहिए. उन्होंने शिवराज को सलाह दी कि यहां नाटक करने की जगह दिल्ली में धरना देकर राज्य को मदद दिलाना चाहिए.कैमरे की राजनीति करने से प्रदेश नहीं सुधरेगा.

ये भी पढ़ें-हनी ट्रैप मामला: नेताओं-अफसरों के पास भेजी गयीं कॉल गर्ल्स, मिले दर्जनों नंबर

मध्य प्रदेश में 3 बस दुर्घटनाओं में 5 लोगों की मौत, 24 यात्री घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 20, 2019, 4:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...