कांग्रेस ने सुधारी ग़लती : विवाद के बाद फिर से छपा CM का विज्ञापन : तस्वीरें वहीं, इबारत नयी

कैबिनेट बैठक में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर अहन फैसले
कैबिनेट बैठक में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर अहन फैसले

इस बार विज्ञापन में सीएम कमलनाथ (cm kamalnath) के अब तक के राजनीतिक सफर का ज़िक्र है. विज्ञापन में सीएम के 11 महीने की उपलब्धियां गिनाई गयी हैं और अगले 4 साल में मध्य प्रदेश में पंडित जवाहर लाल नेहरू (pt. jawahar lal nehru) के विजन और छिंदवाड़ा मॉडल लागू करने के प्लान का ज़िक्र है.

  • Share this:
भोपाल.कल की भूल को आज सुधार लिया गया. सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) के जन्मदिन (birthday) पर शुभकामना विज्ञापन (Greeting advertisement) पर उड़े मज़ाक के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी (pcc) ने आज अपनी ग़लती सुधार ली. अख़बारों में आज फिर से विज्ञापन (Greeting advertisement) छापा गया है. उसमें तस्वीरें तो वहीं हैं लेकिन इबारत नयी है.विज्ञापन में नीचे लिखा है-एजेंसी की गलती की वजह से सोमवार को ग़लत बातें प्रकाशित हो गई थीं, इसका विज्ञापन दाता से कोई लेना-देना नहीं है.

नया विज्ञापन ये कहता है
दोबारा छापे गए विज्ञापन में तस्वीरें वहीं हैं, लेकिन इसमें सबसे नीचे छपा है-एजेंसी की ग़लती के कारण 18 नवंबर 2019 के अंक में कुछ त्रृटिपूर्ण पंक्तियां प्रकाशित हो गयी थीं. इसका विज्ञापनदाता से कोई लेना-देना नहीं है. इसका हमें खेद है. भूल सुधार करते हुए विज्ञापन दोबारा छापा जा रहा है.
सांसद से सीएम तक का सफर
इस बार विज्ञापन में सीएम के अब तक के राजनीतिक सफर का ज़िक्र है. इसमें लिखा है कि कमलनाथ कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता होने के साथ-साथ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भी हैं. वो नरसिम्हा राव सरकार में पर्यावरण, कपड़ा मंत्री रहे. मनमोहन सरकार में केंद्रीय शहरी विकास, वाणिज्य और सड़क परिवहन, संसदीय कार्य और राजमार्ग मंत्री रहे.विज्ञापन में सीएम के 11 महीने की उपलब्धियां गिनाई गयी हैं और अगले 4 साल में मध्य प्रदेश में पंडित जवाहर लाल नेहरू के विजन और छिंदवाड़ा मॉडल लागू करने के प्लान का ज़िक्र है.
सीएम कमलनाथ के बार में लिखा है-वो धैर्यशील, उच्च प्रशासनिक क्षमता, कर्मठ और तीक्ष्ण राजनैतिक सूझबूझ वाले नेता हैं. पूर्वी पीएम इंदिरा गांधी उन्हें राजीव और संजय गांधी के बाद तीसरा बेटा मानती थीं.



पुराने विज्ञापन पर उठा था विवाद
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के जन्मदिन पर सोमवार 18 नवंबर को भोपाल के अख़बारों में छपे एक विज्ञापन ने कांग्रेस को ही मज़ाक का विषय बना दिया था. ये विज्ञापन सीएम को जन्मदिन की बधाई और शुभकामनाएं देने के लिए छापा गया था. लेकिन इसमें सीएम कमलनाथ के बारे में कुछ बातें ऐसी थीं जिसने खुद पार्टी को ही असहज कर दिया था. विज्ञापन छपते ही मीडिया में ये मुद्दा उछला तो कांग्रेस नेताओं को जवाब नहीं सूझा. किसी ने कहा विज्ञापन एजेंसी की ग़लती है तो किसी को लगा कि इसके पीछे बीजेपी की साज़िश है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज