भांजे रतुल पुरी की गिरफ़्तारी पर CM कमलनाथ ने कहा- मेरा उनसे व्यावसायिक संबंध नहीं
Bhopal News in Hindi

भांजे रतुल पुरी की गिरफ़्तारी पर CM कमलनाथ ने कहा- मेरा उनसे व्यावसायिक संबंध नहीं
सीएम कमलनाथ

सीएम कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी की दिल्ली में गिरफ़्तारी हुई है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने भांजे रतुल पुरी की गिरफ्तारी पर भोपाल में बयान दिया है. उन्होंने कहा रतुल से मेरा कोई व्यावसायिक संबंध नहीं है. लेकिन यह मुझे विशुद्ध रूप से एक माला कार्रवाई प्रतीत होता है. मुझे विश्वास है कि अदालत इस बारे में सही रुख अपनाएगी.



मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ये बात भोपाल में पूर्व प्रधानमंत्री स्व राजीव गांधी की जयंती पर आयोजित युवा संवाद कार्यक्रम के बाद मीडिया के सवाल पर कही. कमलनाथ ने कहा रतुल पूरी के व्यापार से मेरा कोई संबंध नहीं है. उनकी जो गिरफ्तारी की गई है मैं इसे मानता हूं कि यह मेलाफाइड है.सब संस्थाओं का जिस तरह से दुरुपयोग किया जा रहा है वो बहुत दुख की बात है. कभी चिदंबरम, कभी पटेल,कभी शिवसेना नेताओं तो कभी उद्योगपति के पीछे उन्हें लगाया जा रहा है. यह देश कहां घसीटा जा रहा है. लेकिन मैं किसी से डरता नहीं हूं.
राजीव गांधी-जिन्हें देश प्यार करता था
इस कार्यक्रम में सीएम कमलनाथ ने कहा 3 प्रकार के नेता होते हैं.एक नेता जिसे देश प्यार करता है.दूसरे वो जिससे देश डरता है और तीसरे नेता जिसकी देश उपेक्षा करता है.राजीव गांधी ऐसे नेता थे जिनसे देश प्यार करता था.


युवाओं को मंत्र
सीएम कमलनाथ ने युवाओं से संवाद किया. उन्होंने सवालों के जवाब दिए.एक सवाल के जवाब में कमलनाथ ने कहा- सरकार की कोशिश है कि मध्य प्रदेश में निवेश आए. निवेश तभी आएगा जब यहां विश्वास का वातावरण बने.एमपी में क्वालिटी एजुकेशन देना हमारी प्राथमिकता है.युवा भले ही कितनी भी शिक्षा हासिल कर लें लेकिन IT स्किल होना सबसे ज़्यादा ज़रूरी है. इसलिए आज की जरूरत के हिसाब से युवाओं को तैयार करना हमारी सरकार की प्राथमिकता है.
सीएम कमलनाथ ने कहा युवाओं से कहा-अपने जीवन में एक अचीवमेंट और फुलफिलमेंट दोनों में अंतर है.हमारी ये उम्मीद है कि केवल अचीवमेंट की ओर न जाएं बल्कि फुलफिलमेंट पर ध्यान दें.
खेल-कूद पर ध्यान
सीएम कमलनाथ ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि सरकार की कोशिश है कि स्पोर्ट्स की वर्ल्ड क्लास ट्रेनिंग औऱ अच्छे स्टेडियम तैयार कराए जाएं.खेल का एक मेन्टल डिसिप्लिन होता है जो क्लास रूम में बैठकर नहीं हो सकता.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज