Home /News /madhya-pradesh /

सीएम शिवराज का ऐलान, 15 नवंबर को मनाया जाएगा जनजाति गौरव दिवस

सीएम शिवराज का ऐलान, 15 नवंबर को मनाया जाएगा जनजाति गौरव दिवस

 सदन के अंदर विपक्ष का जिस तरीके से रवैया रहा वह संसदीय परंपराओं को तार-तार करने वाला रहा है.

सदन के अंदर विपक्ष का जिस तरीके से रवैया रहा वह संसदीय परंपराओं को तार-तार करने वाला रहा है.

सियासी दलों की कोशिश आगामी चार सीटों के उपचुनाव समेत 2023 के विधानसभा चुनाव में आदिवासी वोट बैंक कबाड़ने की है. यही कारण है कि कांग्रेस ने आज जहां सदन के अंदर आक्रामक तेवर दिखाए तो वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनजाति गौरव सम्मान दिवस मनाने का ऐलान कर विपक्ष के आदिवासी मुद्दों की हवा निकालने की कोशिश की है.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) में 15 नवंबर जन जाति गौरव सम्मान दिवस के रूप में मनाया जाएगा. सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने ये ऐलान किया. 15 नवंबर बिरसा मुंडा की जयंती है, इसे अब जनजाति गौरव सम्मान दिवस के रूप में जाना जाएगा.

प्रदेश की शिवराज सरकार ने आदिवासी दिवस के मौके पर बड़ा ऐलान किया है. मुख्यमंत्री ने आदिवासी बिरसा मुंडा की जयंती पर 15 नवंबर को जनजाति गौरव सम्मान दिवस मनाने का ऐलान किया है. सीएम शिवराज ने कहा 15 नवंबर को पूरे प्रदेश में बड़े आयोजन होंगे. 15 नवंबर को सरकार 1 दिन का अवकाश भी घोषित करेगी.

विधानसभा में आदिवासियों के मुद्दे पर विपक्ष के हंगामे पर सीएम शिवराज ने कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला. उन्होंने कहा विपक्ष ने संसदीय परंपराओं का अपमान किया है. सदन के अंदर विपक्ष का जिस तरीके से रवैया रहा वह संसदीय परंपराओं को तार-तार करने वाला रहा है. मुख्यमंत्री ने कहा विधानसभा में पहले दिन दिवंगत लोगों को श्रद्धांजलि दी जानी थी. उसमें कांग्रेस आदिवासी नेता कलावती भूरिया समेत कई नेता शामिल थे. लेकिन कांग्रेस भ्रम फैलाने और घटिया राजनीति के सहारे श्रद्धांजलि को बाधित करने में लगी रही.

आदिवासियों के नाम पर राजनीति
सीएम शिवराज ने कांग्रेस पर आदिवासियों के नाम पर घड़ियाली आंसू बहाने का आरोप लगाया. मुख्यमंत्री ने कहा कांग्रेस विधानसभा में घटिया राजनीति कर रही है राज्य सरकार ने आदिवासी दिवस को पहले ही ऐच्छिक अवकाश घोषित किया है. बीजेपी आदिवासी हितैषी पार्टी है. आदिवासी हित में कई आदिवासी छात्रों को छात्रवृत्ति देने से लेकर विदेश में पढ़ाई का खर्च भी सरकार उठा रही है. लेकिन आदिवासियों में भ्रम फैलाकर कांग्रेस घड़ियाली आंसू बहा रही है. सीएम शिवराज ने कहा बीजेपी सरकार में अटल बिहारी वाजपेई ने अलग से आदिमजाति मंत्रालय का गठन किया था. सीएम शिवराज ने कहा जनजातीय संस्कृति परंपरा और जीवन मूल्यों रोजगार समेत दूसरी व्यवस्थाओं को लेकर सरकार अभियान चलाएगी. सीएम शिवराज ने सदन के अंदर नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के रवैया की भी निंदा की.
आदिवासी विरोधी सरकार
नेता प्रतिपक्ष ने भी सरकार पर हमला बोला है. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा आदिवासी दिवस पर सरकार ने आदिवासियों का अपमान किया है. विश्व आदिवासी दिवस पर हमारी सरकार ने अवकाश घोषित किया था लेकिन मौजूदा सरकार ने उस पर रोक लगा दी कमलनाथ ने बीजेपी को आदिवासी विरोधी सरकार बताया है.

आदिवासी वोट पर नजर
आदिवासी दिवस पर आदिवासियों के वोट साधने के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए. सियासी दलों की कोशिश आगामी चार सीटों के उपचुनाव समेत 2023 के विधानसभा चुनाव में आदिवासी वोट बैंक कबाड़ने की है. यही कारण है कि कांग्रेस ने आज जहां सदन के अंदर आक्रामक तेवर दिखाए तो वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनजाति गौरव सम्मान दिवस मनाने का ऐलान कर विपक्ष के आदिवासी मुद्दों की हवा निकालने की कोशिश की है.

Tags: Baiga tribal, CM Shivraj Singh Chauhan, Madhya pradesh news, Tribal cultural

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर