मिल बांचें मध्यप्रदेश: स्कूल मास्टर की भूमिका में नजर आए सीएम शिवराज
Bhopal News in Hindi

मिल बांचें मध्यप्रदेश: स्कूल मास्टर की भूमिका में नजर आए सीएम शिवराज
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज स्कूली मास्टर की भूमिका में नजर आए. भोपाल में सीएम शिवराज ने सरकारी स्कूल में मंझे हुए मास्टर की तर्ज पर करीब एक घंटे की क्लास ली

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज स्कूली मास्टर की भूमिका में नजर आए. भोपाल में सीएम शिवराज ने सरकारी स्कूल में मंझे हुए मास्टर की तर्ज पर करीब एक घंटे की क्लास ली

  • Share this:
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज स्कूली मास्टर की भूमिका में नजर आए. भोपाल में सीएम शिवराज ने सरकारी स्कूल में मंझे हुए मास्टर की तर्ज पर करीब एक घंटे की क्लास ली. अपनी क्लास में प्राइमरी और मिडिल के बच्चों को सीएम ने किस्से- कहानियों के जरिए सफलता के सूत्र बताए तो गणित के जोड़- घटाव के सवाल भी हल करवाए. सीएम ने बच्चो की पढ़ाई के साथ-साथ पेड़ लगाने से लेकर कसरत और खेलकूद भी जरुरी बताया.

मुख्यमंत्री आज मिल बांचें अभियान के तहत बतौर मास्टर भोपाल में मैनिट परिसर में स्थित शासकीय माध्यमिक शाला बच्चों को पढ़ाने पहुँचे. उन्होंने किस्से-कहानियां सुनाकर अपनी क्लास की शुरुआत की. महात्मा गांधी की जीवन पर और बड़ों का आदर करने से जुड़ी कहानियां सुनाकर बच्चों को जीवन में सफलता का ज्ञान दिया.

सीएम ने ये बताने की कोशिश की उन्हीं लोगों का जीवन सफल है जो स्वयं के साथ देश और समाज की उन्नति में भी सहयोगी हों. बच्चों को सरल शब्दों में किताबों से मिलने वाले ज्ञान को आचरण में उतारने की बात कही. शिवराज ने बच्चों को बड़ों का सम्मान करने, सदैव सच बोलने, स्वच्छता का पालन करने और पौधरोपण करने के लिये प्रेरित किया.



छात्र-छात्रों से शिक्षक की तरह मुख्यमंत्री ने नियमित व्यायाम करने के साथ ही खेलने और मित्रों के साथ समय व्यतीत करना भी जरूरी बताया. उन्होंने कहा कि ऐसा करने से मन प्रसन्न, शरीर स्वस्थ और दिमाग मजबूत होता है.
मुख्यमंत्री शिवराज ने पर्यावरण संतुलन पर बात की. बच्चों को सीएम ने जीवन के लिए जरूरी ऑक्सीजन की आवश्यकता, उसकी आपूर्ति के स्त्रोत, वृक्षों की अंधाधुंध कटाई एवं प्रदूषण के दुष्प्रभावों को समझाते हुए कहा कि तेजी से बढ़ता तापमान प्राकृतिक आपदाओं का जनक है. सीएम ने मौसमी बीमारियों के लिये आस-पास साफ-सफाई रखने और गंदगी नहीं करने की शिक्षा दी.

मुख्यमंत्री ने कक्षा में बच्चों को पक्षी और बहेलिये की, सत्यवादी युधिष्ठिर और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रेरक प्रंसगों की कहानियां सुनाईं. बच्चों से पुस्तकों का वाचन करवाया और गणित के प्रश्न भी हल करवाए.

सीएम शिवराज ने बच्चों के साथ घुलमिल कर संवाद का जीवंत सम्पर्क बनाया और बच्चों को बुलाकर उनसे पाठ्य पुस्तक के पाठ पढ़वाए. कक्षा आठवीं की पुस्तक 'भाषा भारती' के पाठ 'मुक्तानंद जी' का वाचन कक्षा 8 के छात्र अमित कुशवाह से करवाया. 'समय बड़ा अनमोल' पाठ का वाचन कक्षा चार की छात्रा राधिका ने किया.

पहली कक्षा के छात्रकृष ने बाल सुलभ सहजता और शालीनता के साथ कविता 'जिसने सूरज चाँद बनाया' का पाठ किया. मुख्यमंत्री ने बच्चों के गणित के ज्ञान का सरल अंदाज में टेस्ट भी लिया.
क्लास खत्म होने के बाद सीएम शिवराज ने बच्चों को उपहार भेंट कर प्रोत्साहित किया और स्कूल से जाने से पहले स्मार्ट क्लास का अवलोकन भी किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading