पहले CM को ठंडा खाना दिया तो हुए थे सस्पेंड, अब किरकिरी होती देख फिर किया गया बहाल

सीएम के साथ ठंंडा खाना रखवाने पर कलेक्टर ने मनीष स्वामी को सस्पेंड कर दिया था.
सीएम के साथ ठंंडा खाना रखवाने पर कलेक्टर ने मनीष स्वामी को सस्पेंड कर दिया था.

गुरुवार को सीएम शिवराज (Shivraj) के इंदौर (Indore) दौरे के दौरान भोपाल लौटते वक्त ठंडा खाना पैक कर दिया गया था.

  • Share this:
भोपाल.इंदौर दौरे के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM SHIVRAJ) को ठंडी और सख्त रोटियां पैक करने के कारण निलंबित (Suspend)  किए गए खाद्य निरीक्षक मनीष स्वामी बहाल कर दिए गए. सीएम के कहने पर उन्हें नौकरी में बहाल कर दिया गया. मुख्यमंत्री ने कहा मैं एक साधारण इंसान हूं. मुझे सूखी रोटियां खाने में भी कोई गुरेज़ नहीं है. ऐसे में केवल उनके खाने के कारण किसी अधिकारी पर कार्रवाई हो यह उन्हें ठीक नहीं लगा.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के मुताबिक ज़िलों में भ्रमण के दौरान अगर उन्हें कोई तक़लीफ़ भी होती है तो वे इसे अपने दिल पर नहीं लेते हैं. मुख्यमंत्री ने कहा उन्हें पता चला है कि उन्हें इंदौर दौरे के दौरान दिए गए ठंडे खाने के कारण संबंधित खाद्य सुरक्षा अधिकारी को निलंबित किया गया था. लेकिन मैं ऐसे विषयों में निलंबन जैसी कार्रवाई का पक्षधर नहीं हूँ. इसलिए मैं मनीष स्वामी को तत्काल प्रभाव से बहाल करता हूं.

सीएम ने कराया कर्तव्यबोध का एहसास
सीएम की ओर से जारी बयान में कहा गया कि मनीष स्वामी को अपने कर्त्तव्यों का निर्वहन पूरी ईमानदारी और सजगता से करना चाहिए था जो उन्होंने नहीं किया. कलेक्टर की तत्कालिक कार्रवाई से उन्हें इसका बोध भी हुआ होगा. अपनी गलती का एहसास भी हो गया होगा. मनीष आगे अपने कर्त्तव्यों में पूरी सजगता, समर्पण एवं तत्परता रखेंगे, ऐसा मुझे विश्वास है. मैं सादा जीवन, संतुलित आहार का आदि रहा हूं. भोजन ठण्डा हो या गर्म, कभी इसका तिरस्कार नहीं किया. जमीन का व्यक्ति हूं. रूखी-सूखी खाकर भी दिन काटे हैं. विलासतापूर्ण जीवन से कोसो दूर हूं. कलेक्टर की तात्कालिक कार्रवाई से मनीष स्वामी को पर्याप्त दंड मिल गया है, आगे वे अपने कर्त्तव्यों के निर्वहन में पूरी निष्ठा रखेंगे.
Indore : CM शिवराज को ठंडी और सख्त रोटियां पैक करने पर खाद्य निरीक्षक मनीष स्वामी सस्पेंड



क्या है मामला ?
एक दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक कार्यक्रम में शामिल होने नेपानगर और फिर इंदौर गए थे. उन्हें शाम 6 बजे इंदौर पहुंचना था और यहां विधानसभा क्षेत्र 3 में 50 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन करना था. लेकिन उन्हें इंदौर पहुंचने में 8 बज गए. वहां कार्यक्रम में शामिल होने के बाद भोपाल रवाना होने में और देर हो गयी. मौसम खराब होने के कारण सीएम हेलिकॉप्टर के बजाए  कार से भोपाल रवाना हुए. व्यस्तता के कारण सीएम खाना नहीं खा पाए थे. इसलिए खाना पैक कराकर साथ रखने का निर्देश उन्होंने दिया था. कलेक्टर मनीष सिंह ने ये ज़िम्मेदारी खाद्य सुरक्षा अधिकारी मनीष स्वामी को सौंपी थी. मनीष स्वामी ने सीएम के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक खाना शाम 6 बजे की बनवाकर पैक करा दिया था. देर होने के बावजूद सीएम को वही खाना दे दिया गया. तीन घंटे विलंब होने के कारण खाना ठंडा और रोटियां सख्त हो गयी थीं. कलेक्टर मनीष सिंह ने इसे प्रोटोकॉल का उल्लंघन मानते हुए मनीष स्वामी को सस्पेंड कर दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज