Home /News /madhya-pradesh /

cm shivraj singh chouhan angry over intelligence system failure in mp jmb terrorist and khargone violence mpsg

इंटेलिजेंस सिस्टम की नाकामी पर नाराज हुए CM शिवराज, अफसरों से पूछा-कब तक देंगे प्लान

CM Shivraj Angry over Intelligence Failure. डीजीपी सुधीर सक्सेना के निर्देश के बावजूद जिला स्तर पर खरगोन में सांप्रदायिक हिंसा की भनक भी इंटेलिजेंस को नहीं मिल पायी.

CM Shivraj Angry over Intelligence Failure. डीजीपी सुधीर सक्सेना के निर्देश के बावजूद जिला स्तर पर खरगोन में सांप्रदायिक हिंसा की भनक भी इंटेलिजेंस को नहीं मिल पायी.

Important News. आतंकी हो या दंगाई, सभी प्रदेश को सुरक्षित मानकर अपना ठिकाना बना रहे हैं. ये सभी प्रदेश के कमजोर इंटेलिजेंस का भी फायदा उठाते हैं. लोकल से लेकर जिला और हेड क्वॉर्टर स्तर पर इंटेलिजेंस फेल होने पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. पिछले 2 महीने में हुई घटनाओं ने इस सिस्टम की पोल भी खोल कर रख दी है. रिटायर्ड डीजीपी आर एल एस यादव ने कहा था कि वर्तमान में जो इंटेलिजेंस सिस्टम चल रहा है उससे शांति नहीं बनाई जा सकती. थाने से लेकर इंटेलिजेंस ब्यूरो तक एक पूरे सिस्टम को मजबूत करना पड़ेगा.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. MP में कमजोर इंटेलिजेंस सिस्टम पर सीएम शिवराज सिंह चौहान सख्त हो गए हैं. उन्होंने मंत्रालय में होम और पुलिस डिपार्टमेंट की बैठक लेकर आला अधिकारियों को इंटेलिजेंस सिस्टम को मजबूत करने के सख्त निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा है अफसर जरूरी प्लानिंग करें.

बैठक में मुख्यमंत्री ने इंटेलिजेंस सिस्टम और मजबूत करने के लिए कहा है. उन्होंने कहा मजबूत इंटेलिजेंस की प्लानिंग मुझे जल्द दी जाए. साधन-संसाधन जो भी लगाने हो लगाएं, लेकिन इंटेलिजेंस सिस्टम मजबूत करें. मुख्यमंत्री ने एडीजी इंटेलिजेंस से पूछा कि आप इंटेलिजेंस मजबूत करने का प्लान मुझे कब तक दे देंगे ?

आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकाना
न्यूज़ 18 ने 12 अप्रैल को दी अपनी खबर  में कुछ घटनाओं का जिक्र करते हुए बताया था कि आतंकी हो या दंगाई, सभी प्रदेश को सुरक्षित मानकर अपना ठिकाना बना रहे हैं. ये सभी प्रदेश के कमजोर इंटेलिजेंस का भी फायदा उठाते हैं. लोकल से लेकर जिला और हेड क्वॉर्टर स्तर पर इंटेलिजेंस फेल होने पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. पिछले 2 महीने में हुई घटनाओं ने इस सिस्टम की पोल भी खोल कर रख दी है.

ये भी पढ़ें- मालेगांव बम ब्लास्ट के गवाह ने मांगी पुलिस सुरक्षा, अपनी जान के लिए बताया खतरा

इन घटनाओं ने खोली थी पोल
केस-1मार्च– इंटेलिजेंस के साथ लोकल पुलिस को भोपाल के ऐशबाग और करोंद क्षेत्र में लंबे समय से रह रहे जमात ए मुजाहिदीन बांग्लादेश के आतंकियों का इनपुट नहीं मिला. सभी आतंकी किराये के मकान में रह रहे थे. लंबे समय में इन आतंकियों ने एमपी के साथ  देशभर में स्लीपर सेल बनाई.

केस-2– डीजीपी सुधीर सक्सेना के निर्देश के बावजूद जिला स्तर पर खरगोन में सांप्रदायिक हिंसा की भनक भी इंटेलिजेंस को नहीं मिल पायी. पहले से सतर्कता नहीं बरतने की वजह से इतनी बड़ी हिंसक घटना हो गई. यदि इंटेलिजेंस इनपुट मिलता तो खरगोन के साथ सेंधवा की घटना नहीं होती.

देश को कमजोर करने की साजिश
रिटायर्ड डीजीपी आर एल एस यादव ने कहा था कि वर्तमान में जो इंटेलिजेंस सिस्टम चल रहा है उससे शांति नहीं बनाई जा सकती. थाने से लेकर इंटेलिजेंस ब्यूरो तक एक पूरे सिस्टम को मजबूत करना पड़ेगा. यहां की खबर टॉप लेवल तक पहुंचना चाहिए. उन्होंने कहा इस तरीके की हिंसक घटनाओं में स्लीपर सेल का हाथ होता है. संगठित होकर इस तरह की घटना को अंजाम दिया जाता है. ऐसी घटनाओं के लिए फंडिंग भी होती है. देश को आर्थिक रूप से कमजोर करने की साजिश की जा रही है. बाकी के देश भी नहीं चाहते हैं कि इंडिया इतनी तेजी से प्रगति करे. इसलिए इस तरह की घटनाओं से भारत को कमजोर करने की साजिश रची जाती है.

Tags: CM Shivraj Singh Chouhan, Madhya pradesh latest news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर