होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

Dhar: जान पर खेलकर बचाई लोगों की जान, शिवराज सरकार पोकलेन मशीन चालकों को देगी दो-दो लाख रुपये

Dhar: जान पर खेलकर बचाई लोगों की जान, शिवराज सरकार पोकलेन मशीन चालकों को देगी दो-दो लाख रुपये

अधिकारियों ने बताया कि धार जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर स्थित बांध में दरार आने की सूचना बृहस्पतिवार को मिली थी, जिसके बाद नीचे की ओर स्थित 18 गांवों को चेतावनी जारी की गई थी.

अधिकारियों ने बताया कि धार जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर स्थित बांध में दरार आने की सूचना बृहस्पतिवार को मिली थी, जिसके बाद नीचे की ओर स्थित 18 गांवों को चेतावनी जारी की गई थी.

धार जिले में बांध की दीवार में दरार पड़ने की बात सामने आई थी. इसके बाद कई गांवों में खतरे के बादल मंडरा रहे थे. ऐसे में अपनी जान की परवाह किए बिना पोकलेन मशीन के चालकों ने बांध से पानी की सुरक्षित निकासी के लिए रास्ता बना दिया. अब इनके काम की जमकर तारीफ हो रही है. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी मशीन चालकों को 2-2 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की है.

अधिक पढ़ें ...

    भोपाल. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने धार जिले में बांध की दीवार में दरार के बाद आपदा को टालने की प्रक्रिया में जुटे अर्थ मूविंग मशीन चालकों को दो-दो लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है. राजधानी भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में सोमवार को भारी बारिश के बीच स्वतंत्रता दिवस समारोह को संबोधित करते हुए शिवराज ने कहा कि तीन दिन पहले कारम नदी पर निर्माणाधीन बांध में रिसाव की सूचना के बाद बड़ा खतरा सामने आया था, ‘लेकिन अब यह खतरा टल गया है, जो आपदा प्रबंधन का सबसे अच्छा उदाहरण है.’

    उन्होंने कहा, “पोकलेन मशीन (भूमि पर काम करने वाले उपकरण) के चालकों ने बांध से पानी की सुरक्षित निकासी के लिए रास्ता बनाने और आपदा को रोकने के वास्ते अपने जीवन को खतरे में डाल दिया. प्रदेश सरकार अर्थ मूविंग मशीन के इन चालकों को दो-दो लाख रुपये का इनाम देगी.” अधिकारियों ने रविवार को बताया था कि बांध की दीवार में दरार और पानी के रिसाव का पता चलने के बाद उससे पानी निकालने के लिए एक नहर खोदी गई, ताकि बांध के फटने की आशंका टाली जा सके. रविवार तड़के इस नहर के जरिए बांध से पानी निकलना शुरू हो गया.

    सीएम शिवराज ने भी किया था आश्वस्त

    वहीं, शिवराज ने रविवार को कहा था कि चिंता करने की जरूरत नहीं है और जलाशय से पानी निकालने के प्रयास जारी हैं. अधिकारियों ने बताया कि धार जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर स्थित बांध में दरार आने की सूचना बृहस्पतिवार को मिली थी, जिसके बाद नीचे की ओर स्थित 18 गांवों को चेतावनी जारी की गई थी. इनमें धार जिले के 12 और खरगोन जिले के छह गांव शामिल थे, जिनके जलमग्न होने का खतरा था.

    कारम नदी पर बन रहे बांध का निर्माण 304 करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है. विपक्षी दल कांग्रेस ने बांध परियोजना में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए घटना की न्यायिक जांच की मांग की है. वहीं, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) ने प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट से नैतिक आधार पर इस्तीफा देने को कहा है. पार्टी ने बांध निर्माण का ठेका कथित तौर पर एक ‘भ्रष्ट’ फर्म को दिए जाने की जांच करने की भी मांग की है.

    Tags: Bhopal news, Madhya pradesh news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर