होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

कारम डैम लीकेज : हजारों लोगों की जान बचाने वाले वॉरियर्स का सीएम शिवराज ने किया सम्मान

कारम डैम लीकेज : हजारों लोगों की जान बचाने वाले वॉरियर्स का सीएम शिवराज ने किया सम्मान

Honor of Courage : कारम डैम संकट टालने वाले रियल हीरो रहे पोकलेन मशीन ऑपरेटर विजय कुमार

Honor of Courage : कारम डैम संकट टालने वाले रियल हीरो रहे पोकलेन मशीन ऑपरेटर विजय कुमार

Honor of Karam Dam Warriors : सीएम निवास में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पोकलेन मशीन ऑपरेटर शिवकुमार कोल, पप्पू कुमार महंती, संजय भारती, मोहम्मद सैयद आलम, रमेश कुमार कोल, प्रमोद कुमार, सूरज कुमार, नितिश कुमार, अमित, जयसिंह को सम्मानित किया. साथ ही बांध का सैल्युअर वॉल्व खोलने वाले विजय पाल सिंह, सुपरवाइजर रवि सिंह, दांगी, विनीत यादव, जितेंद्र दरबार को भी सम्मानित किया. पोकलेन ऑपरेटर/हेल्पर मोती लाल, इंदु , गंगाराम, सुनील, श्यामलाल, विजय और संतोष ओसरी को सीएम शिवराज ने शॉल श्रीफल शील्ड और 2 लाख रुपये की सम्मान निधि देकर सम्मानित किया.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कारम डैम के उन वॉरियर्स को सम्मानित किया जिन्होंने अपनी जान जोखिम में डालकर हजारों लोगों की जान बचाने का सराहनीय काम किया. कारम डैम में लीकेज के बाद नहर बनाकर बांध का पानी खाली किया गया था ताकि बांध टूटे ना. इस काम में पोकलेन ऑपरेटर और अन्य कर्मचारियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. इसके साथ ही सीएम ने अशासकीय संस्थाओं, समाजसेवी, नागरिकों और ग्रामीण जनप्रतिनिधियों को भी सम्मानित किया.

सम्मान समारोह के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा हम बहुत बड़ी आपदा को टालने में सफल हुए. सभी अधिकारी ,कर्मचारी, पोकलेन, मशीन ऑपरेटर, अशासकीय संस्थाओं ने बेहतरीन काम किया. अंतरात्मा की आवाज पर आप सभी का सम्मान कर रहा हूं. 3 दिन और 3 रात में यही सोचकर सो नहीं सका कि हमारी जनता और पशुधन सुरक्षित रहे. फसलों का जो नुकसान हुआ है उसकी हम भरपाई करेंगे. टीम मध्य प्रदेश को में बधाई देता हूं. यह आपदा प्रबंधन का बेहतरीन उदाहरण है. पूरे देश और दुनिया के सामने उत्कृष्ट उदाहरण पेश किया.

कैसे संभव हुआ असंभव काम
सीएम ने कहा- तकनीकी रूप से हमने यह कोशिश की कि मिट्टी धीरे-धीरे कटे और पानी निकल सके. कैनॉल बनाने के अलावा कोई और विकल्प नहीं था. शिवराज ने मंत्री तुलसी सिलावट, प्रभु राम चौधरी और राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव की तारीफ की. साथ ही कलेक्टर, कमिश्नर, एसपी, आईजी , संभागायुक्त , आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पूरे सरकारी अमले को भी सीएम ने बधाई दी.

ये भी पढ़ें- विस्टाडोम कोच के साथ चल पड़ी रानी कमलापति-जबलपुर जनशताब्दी एक्सप्रेस, जानिए इसमें है कितना कुछ है खास

दोषियों पर होगी कार्रवाई
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और जल संसाधन मंत्री  तुलसी सिलावट ने सम्मान समारोह में कहा कि बांध में आई गड़बड़ी की जांच के लिए हमने कमेटी बना दी है. तथ्यों के आधार पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी. तुलसी सिलावट ने न्यूज़ 18 से ये भी कहा कि यह एक बड़ी आपदा थी. लेकिन बेहतर मैनेजमेंट, सभी शासकीय और आशासकीय कर्मचारियों, संस्थाओं, पोकलेन ऑपरेटर्स की मदद से हम बड़ी जान-माल हानि की घटना को टाल सके.

डैम का वॉल्व खोलकर विजय बने रियल हीरो
कारम बांध डिजास्टर मैनेजमेंट के दौरान सबसे बड़े हीरो रहे विजयपाल सिंह. उन्होंने अपनी जान जोखिम में डालकर डैम का वॉल्व खोला था. न्यूज़ 18 से बातचीत में उन्होंने बताया कि उस दौरान हम सभी डरे हुए थे. लेकिन हर समय बस यही ख्याल मन में आ रहा था कि हजारों लोगों की जान हमें बचानी है. हमारी टीम को लगातार ज़रूरी दिशा निर्देश और मार्गरदर्शन मिल रहा था. आज हमें सम्मानित किया गया. यह गौरव का विषय है. सीएम हाउस में आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बांध आपदा मैनजमेंट में बेहतरीन काम करने वाले कर्मचारियों को सम्मानित किया.

इन्हें किया गया सम्मानित
सीएम निवास में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पोकलेन मशीन ऑपरेटर शिवकुमार कोल, पप्पू कुमार महंती, संजय भारती, मोहम्मद सैयद आलम, रमेश कुमार कोल, प्रमोद कुमार, सूरज कुमार, नितिश कुमार, अमित, जयसिंह को सम्मानित किया. साथ ही बांध का सैल्युअर वॉल्व खोलने वाले विजय पाल सिंह,  सुपरवाइजर रवि सिंह, दांगी, विनीत यादव, जितेंद्र दरबार को भी सम्मानित किया. पोकलेन ऑपरेटर/हेल्पर मोती लाल, इंदु , गंगाराम, सुनील, श्यामलाल, विजय और संतोष ओसरी को सीएम शिवराज ने शॉल श्रीफल शील्ड और 2 लाख रुपये की सम्मान निधि देकर सम्मानित किया.

Tags: Bhopal news, Madhya pradesh latest news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर