• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • Tokyo Olympics में सबका दिल जीतने वाली महिला हॉकी टीम को आज CM शिवराज करेंगे सम्मानित

Tokyo Olympics में सबका दिल जीतने वाली महिला हॉकी टीम को आज CM शिवराज करेंगे सम्मानित

टोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम सोमवार को भोपाल पहुंचा

टोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम सोमवार को भोपाल पहुंचा

Indian women's Hockey Team : टोक्यो ओलंपिक ((Tokyo Olympics)) में शानदार प्रदर्शन के बावजूद टीम हार गयी थी. लेकिन उनके प्रदर्शन को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ओलंपिक समापन के दौरान ही महिला हॉकी खिलाड़ियों को सम्मानित करने की घोषणा की थी.

  • Share this:

भोपाल. टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में शानदार प्रदर्शन कर सबका दिल जीतने वाली महिला भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian women’s hockey team) सोमवार देर शाम भोपाल पहुंची. टीम यहां मध्य प्रदेश सरकार की मेहमान है. सीएम शिवराज मंगलवार को टीम का सम्मान करेंगे. टीम की सभी खिलाड़ियों को 31-31लाख रुपये की सम्मान राशि दी जाएगी. 85 साल के बाद ये अवसर आया है जब भारतीय महिला हॉकी टीम भोपाल पहुंची है. टोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन के बावजूद टीम हार गयी थी. लेकिन उनके प्रदर्शन को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ओलंपिक समापन के दौरान ही महिला हॉकी खिलाड़ियों को सम्मानित करने की घोषणा की थी.

टोक्यो ओलंपिक में महिला हॉकी टीम के शानदार ऐतिहासिक प्रदर्शन ने देश और दुनिया का दिल जीत लिया था. महिला हॉकी टीम भले ही ओलंपिक में चौथे नंबर पर रही पर लेकिन उसने अपने शानदार प्रदर्शन से लोगों के दिलों में अपनी अलग पहचान बनाई. खिलाड़ियों के प्रदर्शन से मुख्यमंत्री शिवराज भी प्रभावित हुए. उसी समय सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इन बेटियों को सम्मानित करने की घोषणा कर दी थी.

ये भी पढ़ें-भोपाल में मेट्रो ट्रैक निर्माण के दौरान हादसा, मंत्रालय के कर्मचारी की मौत

विश्वस्तरीय मध्यप्रदेश हॉकी अकादमी
खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया का कहना है प्रदेश के लिए यह हमेशा ही गौरव की बात रही है. साल 2016 के रियो ओलंपिक में मध्य प्रदेश राज्य महिला हॉकी अकादमी ग्वालियर में प्रशिक्षण लेने वाली सात महिला खिलाड़ियों ने भारतीय हॉकी टीम में अपनी जगह बनायी थी और विश्व मंच पर अपनी छाप छोड़ी थी. 2020 के टोक्यो ओलंपिक में भी मध्य प्रदेश राज्य महिला हॉकी अकादमी से प्रशिक्षित पांच खिलाड़ियों ने देश का प्रतिनिधित्व किया. इसमें सुशीला चानू, रीना खोखर, मोनिका, रजनी और वंदना कटारिया शामिल हैं. प्रदेश में हॉकी को पुनर्जीवित करने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने वर्ष 2006 में ग्वालियर में राज्य महिला हॉकी अकादमी की स्थापना की थी. यहां देश के चुनिंदा खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया जाता है. विश्वस्तरीय सर्व सुविधा युक्त इस आधुनिक अकादमी ने कई  खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय मंच दिया है.

भारतीय महिला हॉकी टीम के सदस्य 
सुश्री रानी रामपाल (कप्तान) ,सविता पूनिया, दीप ग्रेस एक्का, निशा, गुरजीत कौर, सलीमा टेटे, उदिता, मोनिका, निक्की प्रधान, नेहा, पी सुशीला चानू, वंदना कटारिया, नवनीत कौर, नवजोत कौर, शर्मिला देवी, लालरेमसियामी, ई.रजनी, रीना खोकर और नमिता टोप्पो है.

भारतीय टीम का प्रदर्शन
भारतीय महिला हॉकी टीम पहली बार ओलंपिक के सेमिफाइनल तक पहुंची थी. ओलम्पिक के सेमिफाइनल का सफर तय कर ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की थी. कांस्य पदक के मुकाबले में भारतीय टीम को बेहद करीबी अंतर से इंग्लैंड से 3- 4 से हार का सामना करना पड़ा था. इससे पहले भारत ने क्वार्टर फाइनल में ओलंपिक और विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराकर सेमिफाइनल में जगह बनाई थी. इस मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से शिकस्त दी थी. लीग मुकाबलों में भारतीय महिला हॉकी टीम का प्रदर्शन सराहनीय रहा था.

85 साल बाद हॉकी टीम भोपाल में 
टोक्यो ओलंपिक में भारत का झंडा बुलंद करने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम देर शाम राजधानी भोपाल पहुंची. भोपाल एयरपोर्ट पर खिलाड़ियों का जोरदार स्वागत किया गया. आज दोपहर 2 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मिंटो हॉल में टीम के हर सदस्य को 31-31 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि से सम्मानित करेंगे. मध्य प्रदेश में 85 साल बाद ऐसा हो रहा है जब भारतीय महिला हॉकी टीम भोपाल पहुंची है. इससे पहले बर्लिन ओलंपिक खेलने वाली पुरुष हॉकी टीम मेजर ध्यानचंद के नेतृत्व में 17 जून 1936 को भोपाल आई थी. टीम ने भोपाल स्टेट इलेवन के खिलाफ अभ्यास मैच खेला था. तब नवाब ऑफ भोपाल ने टीम को 1000 रुपये की वित्तीय सहायता दी थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज