MP में स्वाइन फ्लू फैला तो सीएम कमलनाथ ने पूछा क्यों नहीं बना वायरोलॉजी लैब?

सीेएम कमलनाथ(फाइल फोटो)
सीेएम कमलनाथ(फाइल फोटो)

स्वास्थ्य मंत्री डॉ तुलसी राम सिलावट ने विधानसभा में जानकारी दी कि डॉक्टरों को अलर्ट रहने और 24 घंटे स्पेशल टीम तैनात करने का निर्देश दिया गया है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश में स्वाइन फ्लू का क़हर बढ़ता जा रहा है. भोपाल,इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर सहित बाकी जगहों से भी स्वाइन फ्लू के केस सामने आ रहे हैं. इसकी गूंज मध्य प्रदेश विधानसभा में भी सुनायी दी. इसके साथ ही सीएम कमलनाथ ने भी चिंता ज़ाहिर करते हुए स्वास्थ्य विभाग को स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए ज़रूरी कदम उठाने के लिए कहा है.

मध्य प्रदेश में स्वाइन फ्लू से मौत का आंकड़ा बढ़ने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने चिंता जाहिर की है. उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इसकी रोकथाम को लेकर तत्काल ज़रूरी कदम उठाएं.
सीएम ने पूछा है कि क्या कारण है कि स्वाइन फ्लू से मौतों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. ।इसकी रोकथाम को लेकर क्या कदम उठाए जा सकते हैं.सीएम ने स्वास्थ्य विभाग से पूछा है कि किन संसाधनों की कमी है, वो बताएं ताकि सरकार तत्काल व्यवस्था कर सके.

ये भी पढ़ें -VIDEO : मेडिकल बोर्ड बताएगा ADG मिश्रा के पिता ज़िंदा हैं या मुर्दा...?
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इंदौर में 2 साल पहले मंजूरी मिलने के बाद भी वायरोलॉजी लैब (VDRL) का काम अब तक शुरू ना होने पर हैरानी जताई है. उन्होंने कहा है कि ICMR ने प्रदेश के चार शहरों-इंदौर, रीवा, सागर और ग्वालियर में वायरोलॉजी लैब को मंजूरी दी थी. अभी तक प्रदेश में स्वाइन फ्लू H1 N1 की जांच भोपाल AIIMS और जबलपुर की ICMR लैब में ही हो पाती है. इंदौर में लैब को मंजूरी मिलने के बाद भी लैब नहीं बनाया गया.



ये भी पढ़ें - पत्नी और 5 बच्चों की हत्या 'करने वाला' मरते दम तक जेल में रहेगा : सुप्रीम कोर्ट

इंदौर में स्वाइन फ्लू से मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. जांच की व्यवस्था ना होने और रिपोर्ट आने में लंबा वक्त लगने के कारण बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो रही है, जो चिंताजनक है.सीएम कमलनाथ ने कहा कि इंदौर में शीघ्र वायरोलॉजी लैब का काम शुरू किया जाए. इस लैब में स्वाइन फ्लू की जांच की व्यवस्था की जाएगी. इस संबंध में कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जाएगा. लैब में सभी ज़रूरी व्यवस्था और उपकरण मुहैया कराए जाएंगे.

स्वास्थ्य मंत्री डॉ तुलसी राम सिलावट ने भी स्वाइन फ्लू बढ़ने पर विधानसभा में माना कि ये एक बड़ा संकट है. उन्होंने जानकारी दी कि डॉक्टरों को अलर्ट रहने और 24 घंटे स्पेशल टीम तैनात करने का निर्देश दिया गया है. उन्होंने स्वाइन फ्लू से हुई मौतों पर अफसोस जताया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज