Bhopal News: भोपाल में राम मंदिर के नाम पर फर्जी रसीदें छपवाकर चंदा वसूली, एक गिरफ्तार

 पुलिस ने कहा कि मनीष ने राम जन्मभूमि के नाम पर संकल्प परिषद बनाकर लोगों को धोखा दिया है. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस ने कहा कि मनीष ने राम जन्मभूमि के नाम पर संकल्प परिषद बनाकर लोगों को धोखा दिया है. (सांकेतिक फोटो)

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के नाम पर भोपाल में लोगों से फर्जी रसीद के जरिये 500 से 700 रुपए तक चंदा ले रहे युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया. विश्व हिंदू परिषद की शिकायत पर कार्रवाई.

  • Share this:

भोपाल. राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा लेने के अभियान पर झाबुआ के कांग्रेस विधायक कांतिलाल भूरिया के विवादित बयान के बीच भोपाल में पुलिस ने एक शख्स को लोगों से ठगी के आरोप में गिरफ्तार किया है. राम मंदिर निर्माण के लिए फर्जी रसीद के जरिये यह शख्स लोगों से चंदा वसूल रहा था. पुलिस के मुताबिक आरोपी शख्स अशोका गार्डन इलाके का रहने वाला है. राम मंदिर के लिए फर्जी रसीद से चंदा मांगने की शिकायत पर पुलिस ने गिरफ्तार किया है. विश्व हिंदू परिषद की शिकायत के आधार पर आरोपी की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने कहा कि गिरोह के अन्य सदस्यों की भी तलाश की जा रही है.

भोपाल पुलिस के अनुसार पकड़े गए आरोपी का नाम मनीष राजपूत है. उसे अशोका गार्डन पुलिस ने धोखाधड़ी के तहत गिरफ्तार किया है. यह राम मंदिर निर्माण के नाम पर अवैध तरीके से अशोका गार्डन के दुकानदारों से चंदा ले रहा था. पुलिस ने बताया कि राम भूमि संकल्प सोसाइटी की रसीद के नाम से स्थानीय दुकानदारों से चंदा लिया जा रहा था. विश्व हिंदू परिषद की तरफ से इसकी शिकायत की गई थी. शिकायत मिलने के बाद ही पुलिस हरकत में आ गई. पुलिस ने मौके पर जाकर मनीष राजपूत को पकड़ लिया.

500 से 700 रुपए तक चंदा


पुलिस ने बताया कि आरोपी से पूछताछ की जा रही है कि उसके साथ और कितने लोग हैं, जो इस तरह की अवैध चंदा वसूली करने में लगे हैं. पुलिस ने कहा कि मनीष ने राम जन्मभूमि के नाम पर संकल्प परिषद बनाकर लोगों को धोखा दिया है. उसने फर्जी रसीदें छापी और इससे 500 और 700 से लेकर अलग-अलग तरह की धनराशि एकत्रित की. इसकी पूरी जांच के बाद कड़ी कार्रवाई की जा रही है. पुलिस ने बताया कि वह इसका पता भी लगा रही है कि यहां और कोई गिरोह तो इस तरह के अवैध कार्य को अंजाम नहीं दे रहा है.
गौरतलब है कि विश्व हिंदू परिषद राम मन्दिर के लिए निधि संग्रह अभियान चलाकर लोगों से सहयोग राशि ले रहा है. इसके लिए उसने अपने कुछ लोगों को अधिकृत किया है. उन लोगों को ही रसीदें भी दी गईं हैं. लेकिन इसकी आड़ में कुछ फर्जी लोग भी सक्रिय हो गए हैं. जो राम मन्दिर के नाम पर चंदा वसूली की ठगी कर रहे हैं. पुलिस ने ऐसे ठगों पर नजर रखनी शुरू कर दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज