भोपाल: मंत्रालय में COVID-19 ने दी दस्तक, वाणिज्य कर विभाग के कर्मचारी की रिपोर्ट पॉजिटिव
Bhopal News in Hindi

भोपाल: मंत्रालय में COVID-19 ने दी दस्तक, वाणिज्य कर विभाग के कर्मचारी की रिपोर्ट पॉजिटिव
MP के वाणिज्य कर विभाग के कर्मचारी की रिपोर्ट पॉजिटिव (फाइल फोटो)

लॉकडाउन (Lockdown) के बाद मध्य प्रदेश सरकार ने पहले 30 फीसदी स्टाफ के साथ मंत्रालय खोलने का फैसला लिया था. बाद में लॉकडाउन-4 में इस सीमा को बढ़ाकर 50 फीसदी कर दिया गया. फिलहाल मंत्रालय में रोस्टर प्रणाली के तहत 50 फीसदी स्टाफ काम कर रहा है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
भोपाल. अब तक कोरोनावायरस से बचे मध्य प्रदेश मंत्रालय में आखिरकार कोरोना संक्रमण (COVID-19) ने अपनी दस्तक दे दी है. मंत्रालय में वाणिज्य कर विभाग (Commerce Tax Department) में पदस्थ ग्रेड 2 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) निकला है. कोरोना पॉजिटिव का पता चलने के बाद मंत्रालय में हड़कंप मच गया है. कर्मचारी संगठन ने मंत्रालय की सभी तीन बिल्डिंगों को सील करने की मांग की है.

दरअसल, मध्य प्रदेश मंत्रालय के वाणिज्य कर विभाग में पदस्थ ग्रेड 2 कर्मचारी कुछ दिन पहले छुट्टी लेकर भोपाल से जबलपुर गए थे. रेड जोन एरिया से आने की वजह से जबलपुर में उनका और उनके परिवार का कोरोना टेस्ट कराया गया जिसमें कर्मचारी खुद कोरोना पॉजिटिव पाए गए. हालांकि उनके परिवार के दो सदस्यों को कोरोना नहीं निकला. कर्मचारी की जांच रिपोर्ट आने के बाद से मंत्रालय में हड़कंप मचा हुआ है. मंत्रालय कर्मचारी अधिकारी संघ ने सामान्य प्रशासन विभाग के अपर मुख्य सचिव को एक ज्ञापन सौंपकर मंत्रालय की बिल्डिंग को सील करने की मांग उठाई है.

अधिकारी और कर्मचारी संपर्क में आए
दरअसल कर्मचारियों और अधिकारियों के डरने की वजह यह भी है कि जो कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है वो पिछले कुछ दिनों में कई कर्मचारियों और अधिकारियों के संपर्क में आया था. इनमें मंत्रालय में पदस्थ उपसचिव से लेकर ग्रेड 2 स्तर के कई अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं. यही वजह है कि अब कर्मचारी संगठनों ने मांग उठाई है कि मंत्रालय की सभी तीन इमारतों को सील किया जाना चाहिए क्योंकि कोरोना संक्रमण के और फैलने की संभावना है.



50 प्रतिशत स्टाफ के साथ खुल रहा मंत्रालय


लॉकडाउन के बाद सरकार ने पहले 30 फीसदी स्टाफ के साथ मंत्रालय खोलने का फैसला लिया था. लेकिन बाद में लॉकडाउन 4.0 में इस सीमा को बढ़ाकर 50 फीसदी कर दिया गया. फिलहाल मंत्रालय में रोस्टर प्रणाली के तहत 50 फीसदी स्टाफ काम कर रहा है. कर्मचारी संगठनों की ओर से पहले भी यह आशंका जाहिर की गई थी कि अभी मंत्रालय को खोलना ठीक नहीं होगा क्योंकि कोरोना का संक्रमण भोपाल में लगातार बढ़ रहा है. लेकिन सरकार ने इस मांग को अनसुना कर दिया. अब यही दुआ की जा रही है कि पॉजिटिव कर्मचारी के संपर्क में आये कोई और कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव ना निकले.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! इंदौर में corona रिकवरी रेट 50 फीसदी से अधिक, डेथ रेट में भी कमी
First published: May 30, 2020, 9:02 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading