Home /News /madhya-pradesh /

बीजेपी का दावा-मेट्रो हम लाए, CM कमलनाथ ने याद दिलाया गुज़रा ज़माना

बीजेपी का दावा-मेट्रो हम लाए, CM कमलनाथ ने याद दिलाया गुज़रा ज़माना

भोपाल मेट्रो का श्रेय लेने की होड़ (फाइल फोटो)

भोपाल मेट्रो का श्रेय लेने की होड़ (फाइल फोटो)

भोपाल मेट्रो के शिलान्यास के साथ ही इस पर क्रेडिट की लड़ाई शुरू हो गई है. बीजेपी ने दावा किया है कि मेट्रो प्रोजेक्ट केंद्र में मोदी और एमपी में शिवराज सरकार की देन है. मोदी सरकार ने ही मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए मंजूरी दी थी.

भोपाल. भोपाल मेट्रो (bhopal metro)के शिलान्यास के साथ ही विवाद और आरोप-प्रत्यारोप शुरू हो गए हैं. मेट्रो का क्रेडिट (credit)लेने की होड़ मची हुई है. बीजेपी (bjp-cong)कह रही है कि काम तो हमने शुरू किया था. लेकिन सीएम का कहना है सुझाव और पैसा तो हमने दिया था.
बीजेपी ने मेट्रो का क्रेडिट लेते हुए कहा है इस प्रोजेक्ट को केंद्र की मोदी सरकार ने मंज़ूरी दी थी. कांग्रेस केवल निकाय चुनाव का फायदा देखते हुए शिलान्यास करने में लगी है. उधर बीजेपी के आरोपों को खारिज करते हुए कांग्रेस का कहना है प्रोजेक्ट की शुरुआत ही तब हुई थी जब केंद्र में सीएम कमलनाथ मंत्री हुआ करते थे.

 क्रेडिट की लड़ाई- भोपाल मेट्रो के शिलान्यास के साथ ही इस पर क्रेडिट की लड़ाई शुरू हो गई है. बीजेपी ने दावा किया है कि मेट्रो प्रोजेक्ट केंद्र में मोदी और एमपी में शिवराज सरकार की देन है. मोदी सरकार ने ही मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए मंजूरी दी थी. कांग्रेस सरकार नगरीय निकाय चुनाव को देखते हुए मेट्रो प्रोजेक्ट के शिलान्यास कार्यक्रमों में लगी है. बीजेपी ने ये भी आरोप लगाया कि कांग्रेस ने चुनाव बाद मेट्रो प्रोजेक्ट का काम पूरा ना करने का ठीकरा केंद्र सरकार पर फोड़ने की पृष्ठभूमि भी तैयार कर ली है.
सीएम का दावा-क्रेडिट लेने की होड़ में कांग्रेस भी पीछे नहीं है. कांग्रेस की मानें तो भोपाल-इंदौर में मेट्रो प्रोजेक्ट की शुरुआत तो तब ही हुई जब केंद्र में सीएम कमलनाथ मंत्री हुआ करते थे. सीएम कमलनाथ ने खुद भी मंच से ये बात कही.
27 किमी में 28 स्टेशन
भोपाल मेट्रो का जो शिलान्यास सीएम कमलनाथ ने किया वो 27.87 किलोमीटर लंबा होगा और इसमें 2 कॉरीडोर होंगे. एक कॉरीडोर करोंद सर्कल से एम्स तक 14.94 किलोमीटर और दूसरा भदभदा चौराहा से रत्नागिरि चौराहा तक 12.88 किलोमीटर का होगा. मेट्रो प्रोजेक्ट की कुल लागत 6941 करोड़ 40 लाख होगी. प्रोजेक्ट में एलीवेटेड सेक्शन 26.08 किलोमीटर का होगा. इसमें कुल 28 स्टेशन बनेंगे. अंडर ग्राउंड सेक्शन 1.79 किलोमीटर का होगा. उसमें 2 स्टेशन बनेंगे.
प्रोजेक्ट बजट में केंद्र और राज्य सरकार की 50-50 फीसदी की हिस्सेदारी होगी.मेट्रो प्रोजेक्ट का पहला फेस दिसंबर 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य है. अब देखना ये है कि क्रेडिट की इस लड़ाई में क्या वाकई में भोपाल में भोज मेट्रो तय वक्त पर दौड़ पाएगी.

ये भी पढ़ें-ऐसी होगी 'भोज' मेट्रो ट्रेन : 2 कॉरिडोर और 27 किमी का सफर

भोपाल में चलेगी 'भोज मेट्रो' : CM कमलनाथ ने दिया ये नाम तो शुरू हुआ विरोध

Tags: Bhopal Metro, BJP, Congeress, Indore news, Madhya pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर