Assembly Banner 2021

बापू के हत्‍यारे नाथूराम गोडसे के पुजारी को पार्टी में लाकर उलझी कांग्रेस, कमलनाथ चुप, अरुण यादव ने मांगी क्षमा

हिंदू महासभा के पार्षद बाबूलाल चौरसिया ने कांग्रेस में एंट्री को घर वापसी बताया है.

हिंदू महासभा के पार्षद बाबूलाल चौरसिया ने कांग्रेस में एंट्री को घर वापसी बताया है.

MP News: हिंदू महासभा के पार्षद बाबूलाल चौरसिया की कांग्रेस में एंट्री हो गई है. इसके साथ ही पार्टी के अंदर जबरदस्त विरोध शुरू हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2021, 11:09 AM IST
  • Share this:
ग्वालियर/भोपाल. बापू के हत्‍यारे नाथूराम गोडसे का मंदिर बनाने वाले और उसकी मूर्ति पर जल चढ़ाने वाले हिंदू महासभा के पार्षद बाबूलाल चौरसिया पर कांग्रेस उलझ गई है. पार्टी के अंदर जबरदस्त विरोध शुरू हो गया है. कोई खुलकर कुछ नहीं कह रहा, लेकिन दबी जबान में जिसे जो संदेश देना है दे रहा है.

बाबूलाल के कांग्रेस में आते ही पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने तो महात्मा गांधी ‘बापू’ से क्षमा मांग ली. उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा- ‘बापू हम शर्मिंदा हैं...’ कमाल की बात यह है कि उन्होंने सोशल मीडिया के इस संदेश पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को तो टैग किया, लेकिन कमलनाथ को टैग नहीं किया. बता दें कि इस मसले पर कमलनाथ की अभी कोई टिप्पणी नहीं आई है.

कमलनाथ को अंधेरे में रखा- अग्रवाल
दूसरी ओर कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने कहा कि पीसीसी चीफ कमलनाथ को धोखे में रख बाबूलाल चौरसिया को कांग्रेस की सदस्यता दिलाई गई. इस बारे में पार्टी को सोच-समझकर फैसला लेना चाहिए. गांधी के हत्यारे की पूजा करने वालों की पार्टी में कोई जगह नहीं होनी चाहिए.
अंधभक्तों की खुल रही आंखें- कांग्रेस विधायक


इधर, ग्वालियर से कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने बाबूलाल चौरसिया की कांग्रेस में वापसी का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि बाबूलाल चौरसिया की कांग्रेस में एंट्री से परिवर्तन का दौर शुरू हो चुका है. गोडसे को पूजने वाले अब वास्तविकता को समझ चुके हैं. कांग्रेस पार्टी के विचारों से प्रभावित होकर गोडसे के विचार वाले लोग अब गांधी विचारधारा से जुड़ रहे हैं. अंधभक्तों की आंखें अब खुलने लगी हैं.

मैंने घर वापसी की- बाबूलाल
भोपाल में कांग्रेस की सदस्यता लेने के बाद ग्वालियर लौटे बाबूलाल चौरसिया ने कहा कि वह पहले भी कांग्रेस के थे. अपनी विचारधारा में वापस लौटे हैं. बाबूलाल ने कहा कि वह अपने घर में वापस लौटे हैं. टिकट का लालच नहीं है, यदि कांग्रेस उनका मौका देगी, तो वह पीछे नहीं हटेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज