भांडेर से टिकट कटने से नाराज पूर्व मंत्री महेंद्र सिंह बौद्ध ने थामा बसपा का दामन

महेन्द्र सिंह बौद्ध पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में मंत्री रह चुके हैं.
महेन्द्र सिंह बौद्ध पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में मंत्री रह चुके हैं.

उपचुनाव (By election) के लिए कांग्रेस (Congress) ने 15 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की थी. बौद्ध भांडेर सीट से दावेदार थे, जिस पर कांग्रेस ने फूल सिंह बरैया के नाम का ऐलान कर दिया था. इससे नाराज़ बौद्ध ने दो दिन बाद ही कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था.

  • Share this:
भोपाल.उपचुनाव (By Election) की तारीखों के ऐलान से पहले नाराज नेताओं के पार्टी बदलने का सिलसिला जारी है.कांग्रेस में टिकट ना मिलने से नाराज महेंद्र सिंह बौद्ध BSP के हाथी पर सवार हो गए हैं. बसपा की सदयस्ता लेने के साथ ही बौद्ध का भांडेर सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया को चुनौती देना लगभग तय माना जा रहा है.इस घटनाक्रम के बीच कांग्रेस ने उन्हें औपचारिक रूप से पार्टी से निष्कासित कर दिया.

टिकट न मिलने पर दिया था कांग्रेस से इस्तीफा
उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने 15 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की थी. बौद्ध भांडेर सीट से दावेदार थे, जिस पर कांग्रेस ने फूल सिंह बरैया के नाम का ऐलान कर दिया था. इससे नाराज़ महेंद्र सिंह बौद्ध ने दो दिन बाद ही कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था और अब वो बीएसपी में शामिल हो गए हैं. पहले की कांग्रेस सरकार में महेंद्र सिंह बौद्ध गृह मंत्री रहने के साथ ही दूसरे विभागों में भी मंत्री रहे हैं.

इसलिए BSP में आए...
BSP की सदयस्ता लेने पर महेंद्र सिंह बौद्ध ने कहा कि मेरी किसी से कोई नाराजगी नहीं है.सत्ता में रहकर सर्वहारा वर्ग की लड़ाई नहीं लड़ सकते.दलित और सर्वहारा वर्ग की आवाज बुलंद करने के लिए ही BSP का दामन थामा है.BSPसत्ता में नहीं है तो हम लोगों को लड़ने का मौका मिलेगा.



टिकट ना मिलने से कोई नाराजगी नहीं
कांग्रेस में एससी मोर्चा के अध्यक्ष रहे महेंद्र सिंह बौद्ध को BSP प्रदेश अध्यक्ष ने सदस्यता दिलाई.भांडेर से टिकट ना मिलने पर नाराजगी के बारे में महेंद्र सिंह बौद्ध का कहना है अगर ऐसा होता तो बहुत पहले इस्तीफा दे दिया होता.टिकट तो मिलते हैं और कटते रहते हैं. इससे पहले 6 बार मेरा टिकट कट चुका है.टिकट कटने से ना पार्टी छोड़ी जाती है ना पकड़ी जाती.कांग्रेस में रहते हुए हर अवस्था में रहकर देख लिया है.मंत्री रहने का मजा भी देखा अब गरीबों की सेवा का मजा भी देखना चाहता हूं.

बैकडोर एंट्री नही की
फूल सिंह बरैया के सामने चुनाव लड़ने पर बौद्ध ने कहा ये फैसला पार्टी करेगी.मैं कहीं से भी चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूँ.चुनाव लड़ने से मैं डरता नहीं हूँ.मैंने कभी भी बैक डोर एंट्री नहीं की. मैं जमीन से जुड़ा नेता हूं.कांग्रेस ने चुनाव लड़ाया तो चुनाव लड़ा. अब बसपा चुनाव लड़ाएगी तो लडूंगा.

कांग्रेस से निष्कासित
महेंद्र सिंह बौद्ध के BSP की सदस्यता लेने के साथ ही कांग्रेस ने उन्हें पार्टी की सदस्यता से निष्कासित कर दिया. उनके कांग्रेस छोड़ने के साथ कांग्रेस अब पार्टी के बाकी नाराज नेताओं को साधने में जुट गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज