दिल्ली पहुंची EVM की शिकायत, मुख्य चुनाव आयुक्त से मिले कमलनाथ

Madhya Pradesh Election: कमलनाथ ने दिल्ली में मुख्य चुनाव आयुक्त से मुलाक़ात की और अपनी आपत्ति दर्ज कराई. इस दौरान कमलनाथ के साथ विवेक तंखा और कपिल सिब्बल भी मौजूद थे

News18 Madhya Pradesh
Updated: December 4, 2018, 4:51 PM IST
दिल्ली पहुंची EVM की शिकायत, मुख्य चुनाव आयुक्त से मिले कमलनाथ
कमलनाथ और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (File Photo)
News18 Madhya Pradesh
Updated: December 4, 2018, 4:51 PM IST
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद ईवीएम की सुरक्षा पर चल रहे उठापटक के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने दिल्ली में मुख्य चुनाव आयुक्त से मुलाक़ात की और अपनी आपत्ति दर्ज कराई. इस दौरान कमलनाथ के साथ विवेक तंखा और कपिल सिब्बल भी मौजूद थे.

कमलनाथ ने चुनाव आयोग से कहा कि मध्य प्रदेश के हर जिले से शिकायत आ रही है चाहे वह EVM को लेकर हो ,चाहे मशीनों के होटल में पाए जाने को लेकर हो. कमलनाथ ने मांग की है कि संबधित अधिकारियों को चुनाव कार्य से हटाया जाए. कमलनाथ ने यह भी मांग रखी कि पहले राउंड की काउंटिंग में जबतक हर पार्टी का सिग्नेचर नहीं होता दूसरे राउंड की काउंटिंग न शुरू की जाए. पहले राउंड का रिजल्ट घोषित किया जाए फिर दूसरा राउंड शुरू हो.

दरअसल, मध्य प्रदेश में ईवीएम को लेकर विवाद तब बढ़ा जब चुनाव के बाद ईवीएम मशीनों को ले जाने के लिए निजी बस का इस्तेमाल होने का आरोप लगा. वहीं कई जिलों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने स्ट्रांग रूम के सीसीटीवी फुटेज भी मांगे जिसे आयोग ने देने से मन कर दिया था.

वहीं ईवीएम पर लगातार खड़े होते संदेह के सवालों के बीच मध्य प्रदेश चुनाव आयोग के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी एल कांताराव ने भी भोपाल में स्ट्रांग रूम का निरीक्षण किया. स्ट्रांग रूम के निरीक्षण के बाद कांताराव ने कहा कि चुनाव आयोग के 100 फीसदी नियमों का पालन ईवीएम की सुरक्षा में किया जा रहा है.

कांताराव ने कहा था कि स्ट्रांग रूम पूरी तरह से सुरक्षित है. तीन स्तर पर ईवीएम की सुरक्षा की जा रही है. कोई भी निरीक्षण करने को जा रहा है तो उसका मोबाइल बाहर रखवाकर रजिस्टर में एंट्री की जा रही है. वहीं सागर, खरगौन, सतना और अब खंडवा के पंधाना में ईवीएम लेट पहुंचने पर कांताराव ने कहा कि जांच रिपोर्ट मंगवाई गई है. उसके बाद कोई कार्रवाई की जाएगी.

यह पढ़ें- EVM सुरक्षा पर घमासान जारी, कमलनाथ बोले- जनादेश से नहीं होने देंगे खिलवाड़
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->