दिग्‍गी समर्थक मानक अग्रवाल की सिंघार को नसीहत, डम्‍पर कांड के सौदेबाज मंत्री हैसियत ना भूलें

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 8:00 PM IST
दिग्‍गी समर्थक मानक अग्रवाल की सिंघार को नसीहत, डम्‍पर कांड के सौदेबाज मंत्री हैसियत ना भूलें
कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने वन मंत्री उमंग सिंघार पर साधा निशाना.

कांग्रेस नेता और दिग्‍गी समर्थक मानक अग्रवाल का कहना है कि वन मंत्री उमंग सिंघार भाजपा का मोहरा हैं. वह विरोधियों के हाथों खेल रहे हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कई साल की कोशिश के बाद कांग्रेस ने शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को सत्‍ता से बाहर कर दिया, लेकिन जब से कमलनाथ (Kamal Nath) ने कमान संभाली है तब से कांग्रेस (Congress) के नेताओं में घमासान मचा हुआ है. इन विवादों में सबसे ताजा और चर्चित है वन मंत्री उमंग सिंघार (orest Minister Umang Singhar) बनाम पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय सिंह (Former Chief Minister Digvijay Singh) की लड़ाई. जी हां, सिंघार के दिग्‍गी के खिलाफ मोर्चा खोलने के बाद तमाम बयानवीर सामने आ रहे हैं. कांग्रेस में मानो एक दूसरे पर आरोप लगाने की होड़ सी मच गई है. इसी कड़ी में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मानक अग्रवाल भी दिग्विजय सिंह के समर्थन में उतर आए हैं.

अग्रवाल ने सिंघार पर लगाया ये आरोप
मानक अग्रवाल का कहना है कि उमंग सिंघार भाजपा का मोहरा हैं. वह भाजपा के हाथों खेल रहे हैं और भाजपा उमंग को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है. वह जमुनादेवी की विरासत को बदनाम कर रहे हैं.



मानक अग्रवाल ने उमंग पर आरोप लगाते हुए कहा कि उमंग बस भाजपा का टूल बन रहे हैं. उनके (उमंग) भाजपा नेताओं से संपर्क रहे हैं. सच कहा जाए तो उमंग सिंघार का लगातार मेल मिलाप भाजपा नेताओं से रहा है. मध्य प्रदेश भवन में किन-किन भाजपा नेताओं से उनकी बात और मुलाकात होती है. उन सबके नाम हमें पता हैं और सारे सबूत हमारे पास हैं.

दिग्विजय सिंह बनाम उमंग सिंघार.


दिग्विजय सिंह ने किया समन्वय का काम
Loading...

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर उमंग ने जिस तरह के आरोप लगाए है या जिस तरीके से उन्होंने ये बातें कही हैं, आज तक कोई नहीं कह पाया है. पूरे प्रदेश में दिग्विजय सिंह ने समन्वय का काम किया है. ऐसा काम किया है जिसके चलते मप्र में कांग्रेस की सरकार बनी है. यकीनन आज भी उनके पास बहुत सारे लोग काम लेकर पहुंचते हैं. दिग्विजय सिंह सभी की सुनते हैं और उनकी कार्यशैली है पत्र लिखना. पत्र के जरिए काम के विकास की जानकारी लेना गलत नहीं है.

हैसियत ना भूलें मंत्री
मंत्री उमंग सिंघार को अपनी हैसियत ना भूलने की मानक अग्रवाल ने नसीहत दी है. मानक अग्रवाल ने कहा कि है कि वो मंत्री बन गए हैं, लेकिन अपनी हैसियत जरूर याद रखें. हम सबको पता है कि डंपर कांड में मंत्री ने सौदेबाजी की थी.

उमंग को सीएम से करनी थी शिकायत
कांग्रेस में अनुशासन है और अनुशासन हमेशा रहेगा, सब एकजुट है. उमंग भाजपा के हाथों में हैं. सीएम कमलनाथ उनके उपर कार्रवाई करेंगे, तो बाकी सब शांत हो जाएंगे. यकीनन कार्रवाई से ये संदेश प्रदेश में जाएंगा कि भाजपा के हाथों खेलने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. जबकि आगे ऐसे कोई भी उमंग सिंघार बनने की हिम्मत नहीं करेगा.

ये भी पढ़ें-सियासत की वजह से भोपाल-इंदौर से पीछे रह गया प्रदेश का ये 'पॉवर सेंटर' शहर

कांग्रेस में घमासान के बीच दिग्विजय सिंह ने CM कमलनाथ को याद दिलाया 'वचन'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 7:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...