लाइव टीवी

राज्यसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस में घमासान मचना तय! मध्य प्रदेश में ये है सीटों का गणित
Bhopal News in Hindi

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 25, 2020, 5:58 PM IST
राज्यसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस में घमासान मचना तय! मध्य प्रदेश में ये है सीटों का गणित
कांग्रेस मे दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया हो सकते हैं प्रमुख दावेदार

राज्यसभा चुनाव का निर्वाचन कार्यक्रम घोषित होते ही एमपी में विभिन्न गुटों और समुदाय के नेताओं को टिकट देने की मांग उठने लगी है. मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा (Rajyasabha) टिकट देने की मांग की तो हीरालाल अलावा ने आदिवासी नेता को राज्यसभा भेजने की मांग उठा दी है.

  • Share this:
भोपाल. जय आदिवासी युवा शक्ति संगठन (जयस) से कांग्रेस में आए और फिर विधायक चुने गए आदिवासी नेता हीरालाल अलावा ने सीएम कमलनाथ से मांग की है कि मध्य प्रदेश में 21 फीसदी आदिवासी आबादी है, लिहाजा कम से कम एक आदिवासी नेता को मध्य प्रदेश से राज्यसभा में भेजा जाए. हीरालाल अलावा के मुताबिक आदिवासियों की समस्याओं और उनके समाधान के लिए ये ज़रूरी है कि आदिवासियों का प्रतिनिधित्व राज्यसभा में बढ़े. आपको बता दें राज्यसभा की खाली हो रही सीटों के लिए केंद्रीय चुनाव आयोग ने निर्वाचन कार्यक्रम घोषित कर दिया है. 26 मार्च को राज्यसभा की सीटों के लिए निर्वाचन की प्रक्रिया होगी. इस कड़ी में मध्य प्रदेश में भी राज्यसभा की 3 सीटों के लिए चुनाव होगा. राज्यसभा की जो 3 सीटें एमपी में खाली हो रही हैं, उनमें से फिलहाल 2 बीजेपी और एक कांग्रेस के पास है. विधानसभा की जो सीटें खाली हो रही हैं उनमें कांग्रेस से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay singh), बीजेपी के राज्यसभा सांसद प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया के नाम शामिल हैं.

क्या है रिक्त होने वाली 3 सीटों का गणित ?
सीटों के गणित के लिहाज से दोनों पार्टियों के पास बहुमत के आधार पर एक-एक सीट जाना तय है, लेकिन तीसरी सीट को लेकर पेंच फंस सकता है. अगर निर्वाचन निर्विरोध नहीं हुआ तो फिर वोटिंग की नौबत आ सकती है. ऐसे में सियासी समीकरणों के मुताबिक एक सदस्य के लिए 58 विधायकों का वोट जरूरी होता है. दो सीटों में एक बीजेपी और दूसरी कांग्रेस को मिलेगी, लेकिन तीसरी सीट के लिए कांग्रेस के 56 और बीजेपी के पास 50 विधायक रह जाएंगे. कांग्रेस को दो वोट जुटाने होंगे, दूसरी तरफ बीजेपी को आठ वोट चाहिए. इतने वोट को अपने पक्ष में करने के लिए अभी से समीकरण बनाए जा रहे हैं और लामबंदी शुरू हो चुकी है.

कांग्रेस में दावेदारों की लंबी लिस्ट



दावेदारों की संख्या को लेकर कांग्रेस में घमासान ज्यादा है. दिग्विजय सिंह का कार्यकाल खत्म हो रहा है लिहाजा वो दोबारा राज्यसभा के लिए समीकरण बैठा रहे हैं, जबकि पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के भी राज्यसभा में जाने की अटकलें हैं. वहीं प्रियंका गांधी का नाम भी सुर्खियों में हैं, ऐसे मे अगर प्रियंका गांधी का नाम मध्य प्रदेश से राज्यसभा के लिए फाइनल होता है तो सिंधिया और दिग्विजय सिंह में घमासान मचना तय है. वहीं बीजेपी में प्रभात झा दोबारा राज्यसभा जाने की बाट जोह रहे हैं, हालांकि उन्हें मौका मिलेगा या नहीं ये अभी तय नहीं है.

ये है चुनाव कार्यक्रम
>> नोटिफिकेशन जारी होने की तारीख - 6 मार्च
>>  नॉमिनेशन फाइल करने की आखिरी तारीख - 13 मार्च
>>  नॉमिनेशन की स्क्रूटनी - 16 मार्च
>>  नाम वापसी की आखिरी तारीख - 18 मार्च
>>  निर्वाचन की तारीख - 26 मार्च
>>  मतदान - 9 बजे से 4 बजे तक
>>  वोटों की गिनती - शाम 5 बजे (26 मार्च)

ये भी पढ़ें :- 

उमा भारती ने जब खोला ये राज़...तो शर्मा गए बीजेपी के नये प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा
राज्यसभा चुनाव के लिए नोटिफिकेशन जारी, 26 मार्च को MP की 3 सीटों का भी होगा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 5:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर