कौन है भोपाल जेल में बंद जमाती सोहेल, जिसकी गिरफ्तारी पर कांग्रेस को है ऐतराज
Bhopal News in Hindi

कौन है भोपाल जेल में बंद जमाती सोहेल, जिसकी गिरफ्तारी पर कांग्रेस को है ऐतराज
ब्रिटिश नागरिक सोहेल की गिरफ्तारी पर कांग्रेस को आपत्ति(फाइल फोटो)

बीजेपी (bjp) ने कहा मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में कांग्रेस (congress) की सरकार होती तो यहां पर जमाती खुलेआम घूमते और भोपाल गैस त्रासदी का मंजर देखने को मिलता.

  • Share this:
भोपाल.राजधानी भोपाल (bhopal) में ब्रिटिश जमाती सोहेल की गिरफ्तारी (arrest) पर सवाल खड़े होने लगे हैं. कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा (vivek tankha) ने सीएम शिवराज (cm shivraj) को चिट्ठी लिखने के साथ ट्वीट किया है. बीजेपी ने इसका ये कहकर जवाब दिया कि अगर कांग्रेस की सरकार होती तो गैस त्रासदी जैसा मंजर हो जाता.

भोपाल पुलिस ने लॉक डाउन के दौरान जिन जमातियों को गिरफ्तार किया था, उनमें ब्रिटिश नागरिक सोहेल भी शामिल है. सोहेल समेत बाकी के जमाती को क्वॉरेंटीन कर गिरफ्तार किया गया था. सभी जमाती  पर वीजा उल्लंघन और शासकीय आदेश नहीं मानने की धाराओं के तहत केस दर्ज किया था. अभी सभी विदेशी नागरिक न्यायिक हिरासत में भोपाल जेल में बंद हैं.

ये है तन्खा की आपत्ति
सोहेल की गिरफ्तारी पर कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने आपत्ति जताई है. उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान को चिट्ठी लिखी है. साथ में उन्होंने ट्वीट भी किया है. तन्खा के अनुसार सोहेल जो ब्रिटिश नागरिक हैं, लॉक डाउन के दौरान भोपाल में था. उसे बेवजह एक धार्मिक स्थल से गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया. उस पर जो एफ आई आर दर्ज हुए उसमें दो बातें कही गई हैं. एक तो उसने कोरोना फैलाया है, दूसरी वीजा का उल्लंघन किया है. तन्खा ने कहा कि सोहेल की अब तक जितनी भी जांच हुई हैं उनमें उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है तो उसने कैसे कोरोना फैलाया.
सोहेल के लिए अभियान


सोहेल की पत्नी और बहन ने यूके में हस्ताक्षर अभियान चलाया है. इस अभियान में उसे रिहा करने की अपील की गई है. सोहेल को लेकर राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने डीजीपी को ट्वीट भी किया है. तन्खा ने मांग की है कि जेल में बंद ब्रिटिश नागरिक सोहेल को छोड़कर उसके देश भेजा जाए.

गुजरात आया था सोहेल
सोहेल की बहन आतिका ने आरोप लगाए हैं कि सोहेल का पासपोर्ट ले लिया गया. जबरिया मस्जिद में रखा गया. वो कई बार की जांच में नेगेटिव आया, फिर भी उसे जेल भेज दिया गया. तन्खा ने मामले को वापस लेने के साथ सोहेल को यूके भेजने की बात की थी.

बीजेपी ने तन्खा पर साधा निशाना
विवेक तन्खा की चिट्ठी और डीजीपी को ट्वीट के बाद बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना साधा है. प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा इस मामले से लग रहा है कि विवेक तन्खा को भारतीय न्याय व्यवस्था पर विश्वास नहीं है. कांग्रेस तुष्टीकरण की राजनीति करती है. यदि मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार होती तो यहां पर जमाती खुलेआम घूमते और भोपाल गैस जैसी त्रासदी का मंजर देखने को मिलता. पुलिस ने वैधानिक काम किया है और न्याय व्यवस्था पर सभी को विश्वास रखना चाहिए.

ये भी पढ़ें-

ये पुलिस थाना नहीं अन्नदाता का दर है, 60 दिन में खाने के 54 हजार पैकेट बांटे

देखें VIDEO: प्रेमी के सामने दिन दहाड़े लड़की का अपहरण! वो चिल्लाती रही लेकिन..
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading