एमपी सरकार के 'जय हिंद' फरमान पर संग्राम

Sunil Tiwari | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 13, 2017, 11:57 PM IST
एमपी सरकार के 'जय हिंद' फरमान पर संग्राम
सांकेतिक तस्वीर
Sunil Tiwari | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 13, 2017, 11:57 PM IST
मध्य प्रदेश के स्कूलों में बच्चे अब हाजिरी के दौरान 'यस सर' की जगह 'जय हिंद' बोलेंगे. राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह के इस फरमान पर सियासी संग्राम छिड़ गया है.

मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता के.के.मिश्रा ने मंत्री विजय शाह के इस आदेश को आजादी के दीवानो और बलिदानियो का घोर अपमान करार दिया है.

वहीं भाजपा ने स्कूल शिक्षा मंत्री शाह के बयान का समर्थन किया है. पार्टी के प्रदेश के मुख्य प्रवक्ता दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि शाह के फरमान के पीछे, स्कूली बच्चों में देशभक्ति की भावना को प्रोत्साहित करने की मंशा है.

गौरतलब है कि विजय शाह ने सतना में कहा कि स्कूलों में हाजिरी के वक्त बच्चे यस सर या यस मैम बोलते हैं,मगर अब ऐसा नहीं होगा. अब स्कूलों के बच्चे हाजिरी में जय हिंद बोलेंगे. ये व्यवस्था 1 अक्टूबर से लागू कर दी जाएगी. उन्होंने बुधवार को सतना जिले के सभी स्कूलों को इस संबंध में निर्देश दिया है.

शाह ने कहा कि अभी यह नियम सतना के निजी विद्यालयों के लिए सिर्फ एक सुझाव है. उन्होंने उम्मीद जताई है कि स्कूल उनकी सलाह का पालन करेंगे. उन्होंने कहा कि यह देशभक्ति से संबंधित है.

मंत्री ने यह भी कहा कि वह अपने आदेश को पूरे राज्य में लागू करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से अनुमति मांगेंगे. शाह ने शिक्षकों, प्राचार्यों और शिक्षा अधिकारियों की एक विभागीय बैठक में चित्रकूट में ये निर्देश जारी किए हैं.
First published: September 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर