• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • ..तो अब सिर्फ एमपी की राजनीति करेंगे कांग्रेस के 'चाणक्य'!

..तो अब सिर्फ एमपी की राजनीति करेंगे कांग्रेस के 'चाणक्य'!

दिग्विजय सिंह और कमलनाथ (File Photo)

दिग्विजय सिंह और कमलनाथ (File Photo)

इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों को देखते हुए दिग्विजय सिंह को प्रदेश की समन्वय समिति का अध्यक्ष बनाया गया है

  • Share this:
कांग्रेस के 'चाणक्य' और मध्य प्रदेश की राजनीति में 'राजा साहेब' कहे जाने वाले दिग्विजय सिंह अब पूरी तरह एमपी की राजनीति पर फोकस करेंगे. दरअसल, कांग्रेस ने उनसे महासचिव पद की जिम्मेदारी वापस ले ली है. उनसे आंध्रप्रदेश राज्य का प्रभार वापस ले लिया गया है. इससे पहले दिग्विजय के पास पिछले साल तक गोवा, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना राज्यों का प्रभार था.

आंध्रप्रदेश का प्रभार लेने के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि दिग्विजय से ये पद छीन लिया गया है लेकिन सच ये है कि दिग्विजय सिंह ने खुद ही सिर्फ एमपी की राजनीति करने की इच्छा जताई थी. मध्य प्रदेश में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने हैं. दिग्विजय सिंह को मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए गठित समन्वय समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

विधानसभा चुनावों में झोंकेंगे ताकत
नर्मदा यात्रा से वापस लौटने के तुरंत बाद इंदौर में हुए पहले प्रेस कांफ्रेंस में दिग्विजय ने भाजपा और शिवराज सरकार पर हमला कर अपने इरादे जता दिए थे. उसके बाद दिग्विजय सिंह लगातार एमपी की शिवराज सरकार पर हमलावर रहे हैं. इस साल मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं. और दिग्विजय सिंह को प्रदेश की समन्वय समिति का अध्यक्ष बनाया गया है. बताया जा रहा है कि दिग्विजय कांग्रेस के पुराने नेताओं को पार्टी में सक्रिय करने और रूठे हुए नेताओं को मनाएंगे. इसके लिए वे पूरे प्रदेश में राजनीतिक यात्रा भी शुरू करने वाले हैं.

शुरू करेंगे एक और यात्रा
दिग्‍विजय सिंह पीसीसी कोऑर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन के तौर पर अपनी यात्रा की शुरू करने जा रहे हैं. यह यात्रा ओरछा से 31 मई को शुरू होगी. इस दौरान दिग्विजय ना सिर्फ पार्टी में पुराने नेताओं को सक्रिय करेंगे बल्कि पार्टी से नाराज नेताओं को मनाने की भी जिम्मेदारी संभालेंगे.

नर्मदा यात्रा से लौटते ही दिखाए थे तेवर
नर्मदा यात्रा से लौटने के तुरंत बाद दिग्विजय ने कहा था कि मैं इस यात्रा के बाद पकौड़े तलने वाला नहीं हूं. नर्मदा परिक्रमा पूरी होने के बाद दिग्विजय सिंह एमपी में कांग्रेस के लिए किंगमेकर बनकर उभरे थे. उन्होंने कहा था कि वे एमपी में कांग्रेस की कमान संभालने के लिए तैयार हैं. कमलनाथ को प्रदेश अध्यक्ष और सिंधिया को चुनाव प्रचार समिति की कमान मिलने के बावजूद भी मध्य प्रदेश के चुनावों में दिग्विजय सिंह के महत्त्व को कम करके नहीं आंका जा सकता है. और यही कारण है कि उन्हें समन्वय समिति की कमान सौंपी गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज