विधायक की जेल में सेवा करने के लिए कार्यकर्ता ने नहीं कराई जमानत

जीतू पटवारी के समर्थक माने जा रहे सचिन, जिसे कोर्ट ने जमानत दी थी, उसने आवश्यक दस्तावेज नहीं होने के हवाला देकर जमानत नहीं ली

Manoj Rathore
Updated: April 17, 2018, 8:05 PM IST
विधायक की जेल में सेवा करने के लिए कार्यकर्ता ने नहीं कराई जमानत
जेल में जीतू पटवारी के साथ सचिन
Manoj Rathore
Updated: April 17, 2018, 8:05 PM IST
मध्य प्रदेश के कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी जेल क्या गए, उनकी सेवा करने के लिए एक कांग्रेसी कार्यकर्ता ने जमानत मिलने के बावजूद जमानत नहीं ली. कोर्ट ने जीतू पटवारी के साथ उस कार्यकर्ता को भी जेल भेज दिया.

दरअसल, पूरा मामला कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी से जुड़ा हुआ है. 11 दिसंबर 2017 को इंदौर की खुड़ैल चौकी में बिना नंबर की सफारी गाड़ी में जा रहे विधायक जीतू पटवारी को ट्रैफिक पुलिसकर्मी ने रोका था. आरोप है कि जीतू पटवारी ने पुलिसकर्मी से बदतमीजी की और सरकारी कामकाज में बाधा डाली. इस मामले में जीतू पटवारी लंबे समय से स्पेशल कोर्ट में हाजिर नहीं हुए थे. इसके अलावा जीतू पर एक चक्काजाम का मामला भी चल रहा था.

मंगलवार को जीतू अपने कांग्रेसी साथियों के साथ स्पेशल कोर्ट पहुंचे. कोर्ट ने चक्काजाम के मामले में जमानती वारंट होने की वजह से जीतू समेत करीब आठ लोगों को जमानत दे दी. लेकिन ट्रैफिक पुलिसकर्मी के मामले में गिरफ्तारी वारंट होने की वजह से विशेष न्यायाधीश सुरेश सिंह ने जमानत याचिका को खारिज करते हुए जीतू पटवारी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भोपाल सेंट्रल जेल भेज दिया.

हालांकि इस पूरे मामले में जीतू के समर्थक माने जा रहे सचिन, जिसे कोर्ट ने जमानत दी थी, उसने आवश्यक दस्तावेज नहीं होने के हवाला देकर जमानत नहीं ली. कोर्ट ने जीतू के साथ सचिन को भी जेल भेज दिया. बताया जा रहा है कि जीतू की जेल में सेवा करने के लिए ही सचिन ने जानबूझकर जमानत नहीं ली. अब जीतू की जमानत के लिए कांग्रेस हाईकोर्ट में जाएगी.

ये पढ़ें- 10 साल पुराने मामले में कांग्रेस विधायक को जिला अदालत ने भेजा जेल
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Madhya Pradesh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर