Matrimonial site से की शादी, 4 महीने साथ रहने के बाद गायब हो गया पति, फिर हुआ खुलासा...
Bhopal News in Hindi

Matrimonial site से की शादी, 4 महीने साथ रहने के बाद गायब हो गया पति, फिर हुआ खुलासा...
मेट्रीमोनियल साइट के जरिये हुई थी शादी, सच सामने आया तो....(प्रतीकात्मक तस्वीर)

मेट्रीमोनियल साइट के जरिये NGO संचालिका ने एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर से शादी की लेकिन 4 महीने बाद जब पति गायब हो गया तो जांच में पता चला कि ये उसकी तीसरी शादी थी.

  • Share this:
भोपाल. मेट्रीमोनियल साइट (Matrimonial site) के जरिए सम्पर्क में आए युवक से शादी के 4 महीने बाद ही शातिर पति के हैरतअंगेज फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ. दरअसल भोपाल के मिसरोद थाना इलाके में रहने वाली एक एनजीओ (NGO) की संचालिका ने 30 जनवरी को रीति-रिवाज से बेंगलुरु निवासी भास्करन से शादी की थी. पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) भास्करन भोपाल (Bhopal) में रहकर काम कर रहा था. युवती मेट्रीमोनियल साइट के जरिए भास्करन के सम्पर्क में आई थी. शादी के बाद भास्करन उसके साथ 4 महीने तक रहा और इसके बाद अचानक एक दिन लापता हो गया. जब संचालिका ने उसके बारे में जानकारी जुटाई तो जो खुलासा हुआ उससे संचालिका के पैरों तले जमीन खिसक गई.

NGO संचालिका से की थी तीसरी शादी
एनजीओ संचालिका ने पुलिस को बताया कि जब उसे पति भास्करन पर शक हुआ और उसने उससे पूछताछ की तो वह पहले तो जानकारी छुपाने लगा लेकिन जब उसने अपने स्तर से और सोशल मीडिया के जरिए जानकारी जुटाई तो पता चला कि भास्करन पहले से शादीशुदा है और उसने एक नहीं बल्कि 2 शादियां कर रखी हैं और तीसरी शादी उससे की है. भास्करन से जब संचालिका ने पूछा तो भास्करन ने तलाक होने की बात कही लेकिन तलाक के दस्तावेज मांगने पर भास्करन डर गया और घर छोड़कर भाग गया. पति भास्करन के गायब होने की शिकायत संचालिका ने महिला थाने में की. पहले तो लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया फिर मामला मिसरोद थाना इलाके का होने के कारण पुलिस ने आगे की जांच के लिए मामले को मिसरोद थाने में ट्रांसफर कर दिया.

ये भी पढ़ें- क्लास के वाट्सएप ग्रुप में छात्रा ने टीचर के लिए पोस्ट किए अपशब्द और फिर....




दो बच्चों का बाप है आरोपी
एनजीओ संचालिका ने अपने पति भास्करन के खिलाफ पुलिस को वह सबूत भी उपलब्ध कराए जिससे यह पता चल रहा है कि भास्करन ने दो शादियां की हैं और उसके दोनों पत्नियों से एक-एक बच्चे भी हैं. संचालिका ने अब भास्करन की दोनों पत्नी से भी संपर्क किया है. इस बीच अवसाद के चलते एनजीओ संचालिका ने नींद की गोलियां खाकर जान देने की कोशिश भी की. मामले की जांच अब मिसरोद पुलिस कर रही है और पुलिस ने आरोपी भास्करन की तलाश तेज कर दी है हालांकि अभी तक आरोपी का कोई पता नहीं चल पाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading