MP में अनलॉक की नई गाइड लाइन पर बनी सहमति, मंदिर में ऐसे होंगे दर्शन

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अनलॉक (Unlock) की प्रक्रिया को लेकर बनाए गए ग्रुप ऑफ मिनिस्टर की गुरुवार को अहम बैठक हुई. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में अनलॉक की कुछ गाइड लाइन पर सहमति बन गयी है.

  • Share this:

भाेपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अनलॉक (Unlock) की प्रक्रिया को लेकर बनाए गए ग्रुप ऑफ मिनिस्टर की गुरुवार को अहम बैठक हुई. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में अनलॉक की कुछ गाइड लाइन पर सहमति बन गयी है. अब इन गाइड लाइन को सीएम के साथ होने वाली बैठक में रखा जाएगा और फिर उसे अंतिम रूप दिया जाएगा. बैठक में जिन बातों पर सहमति बनी है उसके तहत सरकारी कार्यालय में 50% कर्मचारियों की उपस्थिति हो सकेगी. राजनीतिक और धार्मिक गैदरिंग बंद रहेंगी. एक समय में मंदिर में पुजारी के अलावा दो अन्य श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे.

नई गाइड लाइन के तहत मॉल ,टॉकीज, जिम, स्विमिंग पूल फिलहाल बंद रहेंगे. निर्माण कार्य और सर्विस प्रोवाइडर संबंधी गतिविधियां चालू रखने पर सहमति बनी है. हवाई यात्रा शुरू रहेंगी. पंजीयन और एग्रीकल्चर कार्यालय खुलेंगे. शादी समारोह में दोनों पक्षों से 20-20 संख्या रहेगी. मृत्यु भोज में 20 की संख्या रहेंगी और दाह संस्कार में 20 लोग रह सकेंगे. राज्यों के बॉर्डर पर सख्ती रहेगी, आर्थिक गतिविधि चालू रहेंगी.

प्रचार प्रसार संबंधी GoM की बैठक

कोविड नियंत्रण के प्रति जन जागरुकता को लेकर भी मंत्री समूह की बैठक हुई. बैठक में प्रमुख सचिव जनसंपर्क शिव शेखर शुक्ला ने जनता में जागरुकता के लिए प्रचार प्रसार के लिए पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन से रूपरेखा रखी. बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वाश सारंग, ऊर्जा मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर, पर्यटन मंत्री ऊषा ठाकुर, शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार और उच्च अधिकारी मौजूद रहे. गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए सोमवार को फिर 11:30 बजे रूपरेखा को अंतिम रूप देने के निर्देश दिए.
अनलॉक के ये हैं 5 सूत्र

वहीं सरकार ने अनलॉक के लेकर 5 सूत्र तैयार किये हैं. एक जून के बाद इन 5 सूत्र पर अमल होगा. इसके तहत हर व्यक्ति को घर के बाहर मास्क लगाना होगा अनिवार्य, सामाजिक दूरी जैसे कोरोना अनुरूप व्यवहार को सार्वजिनक जगहों पर किया जाएगा अनिवार्य, कोरोना टेस्टिंग की सार्वजनिक व्यवस्था की जाएगी, किल कोरोना अभियान के तहत सर्दी, खांसी, बुखार के मरीजों पर रहेगी स्वास्थ्य अमले की नज़र और  क्राइसिस मैनेजमेंट समूह अपने गांव, कस्बे, शहर के संबंध में निर्णय ले सकेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज