जबलपुर: शुरू हुआ मध्य प्रदेश के सबसे बड़े ऐलिवेटिड फ्लाईओवर का निर्माण कार्य, 7 किलोमीटर होगी लंबाई
Bhopal News in Hindi

जबलपुर: शुरू हुआ मध्य प्रदेश के सबसे बड़े ऐलिवेटिड फ्लाईओवर का निर्माण कार्य, 7 किलोमीटर होगी लंबाई
शुरू हुआ मध्य प्रदेश के सबसे बड़े ऐलिवेटिड फ्लाईओवर का निर्माण कार्य (फाइल फोटो)

इस फ्लाईओवर के निर्माण का ठेका एनसीसी प्राईवेट लिमिटेड (NCC Private Limited) को दिया गया है. यह फ्लाइओवर दमोहनाका से लेकर मदन महल इलाके तक होगा.

  • Share this:
जबलपुर. कोरोना संकट के बीच लॉकडाउन के चौथे चरण में विकास कार्यों को गति मिलना शुरू हो गई है. लंबे समय तक थमे विकास के पहिए को रफ्तार देने के प्रयास के साथ अब तमाम निजी और सरकारी कार्य भी शुरू हो गए हैं. जबलपुर में बहुप्रतिक्षित मध्यप्रदेश के सबसे बड़े फ्लाईओवर (Flyover) का काम भी अब शुरू हो गया है. लोकसभा चुनाव के पहले इस बड़ी कार्ययोजना की आधारशिला रखने खुद केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) जबलपुर पहुंचे थे.

बार-बार टेंडर की प्रक्रिया और राजनीति की भेंट चढ़ी इस कार्ययोजना का धरातल पर अब जाकर काम शुरू हुआ है जिससे शहरवासी खासे उत्साहित हैं. जबलपुर के दमोहनाका से लेकर मदन महल तक बनने वाले इस ऐलिवेटिड फ्लाइओवर का निर्माण करीब 7 किलोमीटर लंबाई का होगा जिसकी लागत 758 करोड़ है.

ऐसा होगा प्रदेश का सबसे बड़ा ऐलिवेटिड फ्लाइओवर
इस फ्लाइओवर की कुल लंबाई 7 किलोमीटर और लागत 758 करोड़ रुपये होगी. इसके निर्माण का ठेका एनसीसी प्राईवेट लिमिटेड को दिया गया है. यह फ्लाइओवर दमोहनाका से लेकर मदन महल इलाके तक होगा.



मदन महल स्टेशन पर बनेगा केबल स्टे ब्रिज


अभी सॉयल टेस्टिंग से फ्लाइओवर का निर्माण कार्य शुरू हो गया है. करीब दो सौ प्वाइंटस पर सॉयल टेस्टिंग का काम किया जाएगा. पूरे फ्लाइओवर में करीब 200 पिलर खड़े किए जाऐंगे जिसकी सॉयल टेस्ट रिपोर्ट आने के बाद गहराई का काम किया जाएगा. पूरे मार्ग पर फ्लाईओवर के 5 अलग-अलग स्थानों पर स्लैग होंगेय जबकि मदन महल स्टेशन पर 110 मीटर लंबा केबल स्टे ब्रिज बनाया जाएगा.

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के सागर में फैला COVID-19 संक्रमण, छावनी के BJP पार्षद की मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading