होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

Hijab Controversy: भोपाल में छात्राओं ने हिजाब पहनकर खेला क्रिकेट-फुटबॉल, अनोखे तरीके से जताया विरोध

Hijab Controversy: भोपाल में छात्राओं ने हिजाब पहनकर खेला क्रिकेट-फुटबॉल, अनोखे तरीके से जताया विरोध

 HIJAB ME FOOTBALL.  हिजाब पहनकर फुटबॉल खेल रही इन लड़कियों को कहना है अगर वो आईएएस अफसर बन गयीं तब भी अपना ये पहनावा नहीं छोड़ेंगी.

HIJAB ME FOOTBALL. हिजाब पहनकर फुटबॉल खेल रही इन लड़कियों को कहना है अगर वो आईएएस अफसर बन गयीं तब भी अपना ये पहनावा नहीं छोड़ेंगी.

Hijab Par Bawal : हिजाब पर बवाल के बीच भोपाल के निजी इंदिरा प्रियदर्शिनी कॉलेज में छात्राओं ने हिजाब पहनकर क्रिकेट और फुटबॉल खेला. कॉलेज में छात्राओं ने हिजाब पहनकर विरोध जताया. उन्होंने कहा, 'हिजाब हमारा हक़ है. इसे हमसे कोई नहीं छीन सकता. हम हिजाब पहनकर ही खेल सकते है. पढ़ सकते हैं और आईएएस भी बन सकते हैं.'

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. स्कूल-कॉलेज में हिजाब को लेकर राजनीति गर्मायी हुई है. कर्नाटक से शुरू हुई सियासत एमपी में भी आ पहुंची है. स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने एमपी में भी बैन लगाने की बात कही तो कांग्रेस और मुस्लिम समाज ने विरोध शुरू कर दिया. हालांकि मंत्रीजी यू टर्न ले चुके हैं. लेकिन फिर भी विरोध जारी है. भोपाल के एक निजी कॉलेज में मुस्लिम समाज की युवतियों ने हिजाब और बुर्का पहनकर फुटबॉल खेला.

IAS अफसर बने तभी हिजाब पहनेंगे
मैच देखने के लिए अच्छी-खासी भीड़ लग गयी. लड़कियां भी मस्ती में थीं. वो हिजाब पहनकर किक लगाती रहीं. मैच देखने को अच्छी खासी भीड़ जमा हो गयी. सबने मैच का आनंद लिया. इन लड़कियों का कहना है कि हम आईएस अफसर बनेंगे तब भी हिजाब पहनेंगे. हिजाब हमारा हक़ है इसे हमसे कोई नहीं छीन सकता. हम हिजाब पहनकर खेल सकते हैं. पढ़ सकते हैं और आईएएस भी बन सकते हैं.

शिक्षा मंत्री ने कहा था
मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने मंगलवार को कहा था कि स्कूलों में ड्रेस कोड लागू होगा. हिजाब स्कूल ड्रेस का हिस्सा नहीं हैं. हम अनुशासन को प्राथमिकता देंगे. स्कूल में सभी विद्यार्थियों का एक ड्रेस कोड होगा. स्कूल शिक्षा विभाग इसके लिए गाइडलाइन जारी करेगा. अगले शिक्षा सत्र से ड्रेस कोड की सूचना प्रेषित करेंगे ताकि सभी विद्यार्थियों में समानता का भाव रहे. इंदर सिंह परमार ने कहा, “जो ड्रेस कोड तय होगा, उससे अलग ड्रेस पहनने की अनुमति नहीं दी जाएगी.” यह पूछे जाने पर कि क्या हिजाब पहनकर स्कूल आना गलत है? इस पर उन्होंने कहा था मेरा मतलब हिजाब से नहीं बल्कि किसी ही प्रकार की ड्रेस से है, जो स्कूल के लिए तय नहीं है.

नरोत्तम मिश्रा ने किया था इनकार
बात बढ़ी तो प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आज फौरन इसका खंडन कर दिया. उन्होंने कहा, ‘एमपी में हिजाब पर बैन नहीं लगेगा.’ उन्होंने कहा, ‘इस मामले पर कोई विवाद नहीं है. ऐसा कोई भी प्रस्ताव सरकार के पास विचाराधीन नहीं है. हिजाब को लेकर भ्रम की स्थिति नहीं है. जहां का मामला है वो भी न्यायालय में है.’

Tags: Hijab, Madhya pradesh latest news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर