MP में 17 मई के बाद कोरोना कर्फ्यू में राहत के संकेत, जानिए किन जगहों पर मिल सकती है ढील 

 (सांकेतिक फोटो)

(सांकेतिक फोटो)

Bhopal. सरकार ने लोगों से समारोह आयोजित न करने की अपील की है. मुख्यमंत्री ने कहा है कोरोना वायरस अपने आप कम फैलता है. यदि हम शादी ब्याह, भीड़ और बड़े समारोह में गए तो कोरोना संक्रमण तेज गति से फैलता है. इसलिए सभी लोग घर में रहें. फिलहाल शादी समारोह न करें.

  • Share this:

भोपाल. कोरोना संक्रमण रोकने के लिए लागू कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) से अब जनता को कुछ राहत मिलने के संकेत मिल रहे हैं. कोरोना की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने इस बात के संकेत दिए हैं.जिन जिलों में पॉजिटिविटी दर 5 फीसदी से कम रहेगी उन जिलों में 17 मई के बाद कुछ राहत दी जा सकती है.

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार यदि पॉजिटिविटी दर 5 प्रतिशत से नीचे आती है तो यह कोरोना संक्रमण के नियंत्रित होने का संकेत है. ऐसे जिले जहां कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी इससे नीचे आ गई है वहां 17 मई के बाद धीरे-धीरे वैज्ञानिक ढंग से कोरोना कर्फ्यू को हटाया जा सकेगा. जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट बढ़ा रहेगा वहां कोरोना कर्फ्यू नहीं खुलेगा. मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता से अपील की है कि वे कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करे.

कम हो रहा संक्रमण

एमपी के लिहाज से देखें तो कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन होने से कोरोना मरीज़ों के आंकड़ों में कमी आ रही है. कोरोना के नए संक्रमित प्रकरणों की संख्या प्रदेश में अब चार अंकों में आ गई है. कोरोना संक्रमण के मामले में देश के बड़े राज्यों में मध्यप्रदेश 15वें स्थान पर आ गया है. पॉजिटिविटी दर 25 प्रतिशत से घटकर 14 प्रतिशत से नीचे आ गई है.


समारोह न करने की अपील

इन सबके बावजूद सरकार ने लोगों से समारोह आयोजित न करने की अपील की है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना वायरस अपने आप कम फैलता है. यह वायरस हमारे व्यवहार से ज्यादा फैलता है. यदि हम शादी ब्याह, भीड़ और बड़े समारोह में गए तो कोरोना संक्रमण तेज गति से फैलता है. जन-सहयोग से लागू कोरोना कर्फ्यू जब तक है तब तक कोई भी घर से बाहर नहीं निकले. मई माह में शादी-ब्याह नहीं करें. जून माह में अगर कोरोना संक्रमण नियंत्रित होता है तो  शादी-ब्याह आदि आयोजन छोटे स्तर पर किए जा सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज