लाइव टीवी

Corona Lock Down: घबराएं नहीं, ज़रूरी चीजों के लिए MP सरकार ने किए हैं सभी इंतज़ाम
Bhopal News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: March 25, 2020, 10:19 AM IST
Corona Lock Down: घबराएं नहीं, ज़रूरी चीजों के लिए MP सरकार ने किए हैं सभी इंतज़ाम
मध्‍य प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन को लेकर कई तैयारियां की हैं. (फाइल फोटो)

COVID 19 Lock Down: भोपाल के कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने शहर के लोगों से लॉकडाउन के दौरान सहयोग बनाए रखने की अपील की है.

  • Share this:
भोपाल. 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) में सहयोग देने के लिए मध्य प्रदेश भी तैयार है. शासन-प्रशासन स्तर पर इसके लिए व्यवस्था की जा रही है. लोगों को समझाया जा रहा है कि वे घबराएं नहीं और न ही अफवाह फैलाएं. कोरोना (Coronavirus) के खिलाफ फाइट में सरकार का सहयोग करें. इस दौरान ज़रूरी चीजों की सप्लाई की जाएगी, लेकिन भीड़ से बचें और अपने घर से बाहर न निकलें. सिर्फ ज़रूरी सेवा में लगे लोगों को ही बाहर निकलने की छूट रहेगी. उनके लिए पास बनाए जा रहे हैं.

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन पर आम लोगों से अपील की है. अपने बयान में उन्होंने कहा लोग भयभीत न हों. इस दौरान पूरे प्रदेश में ज़रूरी सामान की सप्लाई की व्यवस्था की जाएगी. सभी ज़िलों के कलेक्टर्स को इस संबंध में निर्देश दे दिए गए हैं. प्रदेश सरकार अगले 21 दिन तक ये तय करेगी कि सभी को ज़रूरत का सामान मिल जाए. कोई चिंता न करे. रोजमर्रा की सभी चीजें आपको उपलब्ध कराई जाएंगी.

श्रम विभाग का आदेश
श्रम विभाग ने दैनिक मज़दूरी करने वाले मजदूरों का ध्यान रखते हुए आदेश दिया है कि लॉक डाउन के दौरान किसी मजदूर का वेतन नहीं कटेगा और न ही किसी कर्मचारी की छंटनी की जाएगी. सरकार के हर निर्देश का पालन आवश्यक रूप से किया जाए. जो संस्थान आदेश नहीं मानेंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.



होम डिलिवरी की सुविधा
21 के इस देश व्यापी लॉकडाउन के दौरान सामान की होम डिलेवरी सुविधा पर कोई रोक नहीं रहेगी. भोपाल में हुई पुलिस और जिला प्रशासन की संयुक्त बैठक में ये फैसला लिया गया. रोजमर्रा की चीजों की आपूर्ति, कालाबाजारी रोकने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं. बैठक में मौजूद डीआईजी शहर इरशाद वली, कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने अफसरों को लॉकडाउन के दौरान कानून-व्यवस्था और अन्य व्यवस्था बनाए रखने की सख्त हिदायत दी है. स्थानीय थानों में प्राइवेट कर्मचारियों और व्यापारियों के पास बनाए जा रहे हैं, ताकि लॉकडाउन के दौरान इन लोगों को आने-जाने में दिक्कत न हो.

ये कर्मचारी रहेंगे मुस्तैद

1- पुलिस/अर्धसैनिक बल वर्दी में
2- जरूरी सेवाओं में लगे सरकारी कर्मचारी
3- स्वास्थ्य कर्मचारी
4- अग्निशमन कर्मचारी
5- जेल में तैनात कर्मचारी
6- उचित दर दुकान
7- विद्युत सेवा
8- जल विभाग
9- नगर निगम की सेवाओं के कर्मचारी
10- विधानसभा तथा संसद में कार्य करने वाले कर्मचारी
11- वेतन तथा लेखा विभाग
12- प्रेस तथा मीडिया कर्मचारी
13- बैंकों में कार्यरत खजांची तथा एटीएम से संबंधित कर्मचारी
14- इंटरनेट/ डाक तार व टेलीफोन विभाग से संबंधित कर्मचारी
15- ई-कामर्स तथा अन्य जरूरी सेवाओं जैसे खाद्य पदार्थ, दवाइयां वे मेडिकल इक्युपमेंट
16- खान-पान की वस्तुएं व किराना, फल/सब्जी व दूध/बेकरी, मांस-मछली इत्यादि
17- दूध डेयरी
18- किराना और केंद्रीय भंडार में काम करने वाले कर्मचारी
19- घर पर डिलीवरी करने के लिए रेस्टॉरेंट या टेक-अवे रेस्टॉरेंट से
20- केमिस्ट और फार्मेंसी की दुकानें
21- पेट्रोल पंप, एलपीजी एजेंसी उनके गोडाउन या उनमें भरण यातायात में संलग्न कर्मचारी
22- जानवरों और पशुओं के लिए चारा
23- एयर लाइंस का स्टाफ पॉयलेट इत्यादि
24- नगर निगम रजिस्ट्रार कार्यालय से जारी अधिकृत पास धारक

जनता से अपील
भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने शहर के लोगों से लॉक डाउन के दौरान सहयोग बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने कहा लोग घबराएं नहीं.कोरोना वायरस को लेकर अफवाहें ना फैलाएं. संयम बरतें. ज़रूरत पड़ने पर प्रशासन से संपर्क करें.डीआईजी इरशाद वली ने भी कहा जो भी कोई अफवाह फैलाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.साथ ही सोशल डिस्टेंस रखने की अपील भी की.

ये भी पढ़ें-

Covid-19 : मध्य प्रदेश की जेलों से बड़ी संख्या में पैरोल पर छोड़े जाएंगे क़ैदी

कोरोना वायरस : भोपाल शहर काजी की अपील, अजान सुनकर घर में ही पढ़ें नमाज़

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 9:30 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,291

     
  • कुल केस

    1,602,619

    +84,493
  • ठीक हुए

    355,671

     
  • मृत्यु

    95,657

    +7,197
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर