मध्य प्रदेश के राजभवन में COVID-19 का कहर, जानें राज्यपाल लालजी टंडन के क्या हैं हाल?
Bhopal News in Hindi

मध्य प्रदेश के राजभवन में COVID-19 का कहर, जानें राज्यपाल लालजी टंडन के क्या हैं हाल?
मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव (फाइल फोटो)

भोपाल में फिलहाल राजभवन परिसर के कार्यालयों को बंद किया गया है. जरूरत पर ही कर्मचारियों को बुलाया बुलाने के निर्देश दिए गए हैं. राजभवन (Raj Bhavan) के बाहर बैरिकेडिंग की गई है और गेट 1 और 3 पूरी तरीके से सील कर दिया गया है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) का सबसे सेफ प्लेस माने जाने वाले राजभवन भी अब कोरोना (COVID-19) का शिकार बन चुका है. सोमवार को यहां 28 साल के एक युवक के पॉजिटिव मिलने के बाद तीन दर्जन कर्मचारियों और उनके परिजनों की सैंपल टेस्टिंग कराई गई थी. इनमें से छह लोग और नए पॉजिटिव मिले. इनमें मोटर मैकेनिक और उसकी पत्नी के अलावा राज्यपाल के निजी स्टाफ में पदस्थ चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के परिवार में चार लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. अब यहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या सात हो चुकी है. पॉजिटिव मिले लोगों में एक कर्मचारी राज्यपाल के निजी स्टाफ में सेवाएं दे रहा था, जो राज्यपाल लालजी टंडन के भी कॉन्टेक्ट में आया था. इन सबके पॉजिटिव मिलने के बाद सबकी निगाहें राज्यपाल लालजी टंडन की रिपोर्ट पर थी जो टेस्टिंग के बाद निगेटिव आई है.

कोरोना की एंट्री राजभवन में होने से बढ़ाई सुरक्षा
राजभवन में कोरोना वायरस फैलने से अब हर दिन उच्चस्तरीय समीक्षा की जाएगी. प्रभावित कंटेनमेंट क्षेत्र में स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर अपनाया जाएगा. बाहरी व्यक्तियों और कर्मचारियों के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग होगी. पॉजिटिव केस मिलने के बाद राजभवन को तीन सेक्टर में बांटा गया है. राज्यपाल के निवास और कार्यालय कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) के निर्देश दिए गए हैं.

राजभवन हुआ सैनिटाइज, कर्मचारी हुए क्वारेंटाइन



फिलहाल परिसर के कार्यालयों को बंद किया गया है. जरूरत पड़ने पर ही कर्मचारियों को बुलाने के निर्देश दिए गए हैं. राजभवन के बाहर बैरिकेडिंग की गई है और गेट नंबर 1 और 3 को पूरी तरीके से सील कर दिया गया है. मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर लोगों के बाहर जाने पर प्रतिबंध लगाया गया है. राजभवन गेट नंबर 2 से ही जरूरतमंदों के प्रवेश की व्यवस्था की गई है. राजभवन में जरूरी सामान की करेगा आपूर्ति का जिम्मा नगर निगम का होगा. विशेष परिस्थितियों में ही राज्यपाल से मुलाकात हो सकेगी.



राजभवन के लोगों ने राहत की सांस तब ली जब राज्यपाल लालजी टंडन की दूसरी कोरोना रिपोर्ट भी निगेटिव आई. ना केवल राज्यपाल बल्कि राजभवन के हर एक कर्मचारी और अधिकारी के सतर्कता के तौर पर सैंपलस कलेक्ट किए गए थे. राजभवन से जुड़े सभी 108 कर्मचारियो की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद कई कर्मचारियों को होम क्वारंटाइन किया गया है. साथ ही सावधानी बरतते हुए पूरे राजभवन को सैनेटाइज भी किया गया है.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! इंदौर में corona रिकवरी रेट 50 फीसदी से अधिक, डेथ रेट में भी कमी

 
First published: May 30, 2020, 7:45 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading