अपना शहर चुनें

States

COVID-19 UPDATE : मध्य प्रदेश के 26 जिले कोरोना की चपेट में, मरीजोंं की संख्या 1200 पार

राज्य में अब तक वायरस संक्रमित 17 लोगों की मौत हो चुकी है.
राज्य में अब तक वायरस संक्रमित 17 लोगों की मौत हो चुकी है.

घर से बाहर निकलते समय हर व्यक्ति को मास्क पहनना अनिवार्य होगा.मास्क उपलब्ध ना होने पर रुमाल, दुपट्टा या गमछा का भी प्रयोग किया जा सकता है.बिना मास्क के पब्लिक प्लेस पर पाए जाने पर हेल्थ एक्ट का उलंघन माना जाएगा और दोषी पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना वायरस (coronavirus) के संक्रमण की चपेट में आने वाले मरीजों की संख्‍या अब 12 सौ के पार हो गई है. एक सप्ताह में राज्य के 12 जिले रेड ज़ोन की श्रेणी में आ चुके हैं. राज्य में कुल 52 जिले हैं जिनमें से 26 जिलों में कोरोना फैल चुका है.

एमपी के कोरोना रेड जोन
राजधानी भोपाल, इंदौर, मुरैना, उज्जैन, खरगोन, जबलपुर, बड़वानी, विदिशा, होशंगाबाद, खंडवा, देवास और रतलाम जिले कोरोना के रेड जोन में शामिल हो चुके हैं.प्रदेश के इन जिलों में तेज़ी के साथ कोरोना मरीज़ो की संख्या बढ़ती जा रही है.हालात ये हैं कि हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में प्रशासन ने सख्ती बढ़ा दी है. इन इलाकों में बाहर निकलने पर लोगों को जेल भी भेजा जाएगा. इलाकों को सील कर जनता को होम डिलिवरी दी जा रही है. इंदौर के 85 में से 75 वार्डों में कोरोना फैल चुका है और आधा शहर केंटोनमेंट बन चुका है. कोरोना पॉजिटिव के मामले में एमपी देश भर में चौथे स्थान पर पहुंचा गया है.

प्रदेश की स्थिति
रेड जोन(जहां 10 से ज्यादा केस)


भोपाल, इंदौर, मुरैना के साथ उज्जैन, खरगौन, जबलपुर, बड़वानी, विदिशा, होशंगाबाद, खंडवा, देवास और रतलाम शामिल हो गए हैं.
ऑरेंज एरिया (जहां 10 से कम केस)
ग्वालियर, शिवपुरी, छिंदवाड़ा, बैतूल, श्योपुर, रायसेन, धार, सागर, शाजापुर, मंदसौर, सतना, टीकमगढ़, आगर मालवा और अलीराजपुर
ग्रीन एरिया(सात दिन से कोई केस नहीं)
अनूपपुर, शहडोल, उमरिया, सीधी, सिंगरौली, रीवा, बालाघाट, डिंडोरी, मंडला, सिवनी, नरसिंहपुर, कटनी, निवाड़ी, छतरपुर, पन्ना, दमोह, हरदा, राजगढ़, सीहोर, बुरहानपुर, झाबुआ, नीमच, दतिया, अशोक नगर, गुना और भिंड

कोरोना को हराने में जुटा स्वास्थ्य विभाग
कम्युनिटी सर्विलांस टीम-21331
रेपिड रिस्पांस टीम-644
मेडिकल मोबाइल टीम-1149
कोरोना संबंधित समस्याओं के लिए टोल फ्री नंबर-181 और 104
एमपी में चिन्हित हॉटस्पॉट जिले-12

प्रदेश में कुल जांच लैब-9
चिन्हित किए आइसोलेशन और आईसीयू-22 जिले
आईसोलेशन वॉर्ड में मरीज़ों को रखने की क्षमता-4325
आईसीयू में मरीज़ों को रखने की क्षमता-685
मैनुअल आरएनए एक्‍सट्रैक्‍शन किट -12700
विभिन्‍न हॉस्पिटल्‍स को जारी की जा चुकी किट-2500
सूबे में जारी आरटी पीसीआर किट-15520

कहां कितनी स्क्रीनिंग
मध्यप्रदेश के कोरोना सैपल्स का कलेक्शन अब इतना बढ़ गया है कि टेस्टिंग के लिए अब दिल्ली और नोएडा भेजा जा रहा है.एमपी के 1600 सैम्पल जांच के लिए विशेष विमान से नोएडा भेजे गए हैं.मध्य प्रदेश में कोरोना पेशेंट्स की संख्या बढ़कर 1200 के पार हो गई है. इनमें से राज्य के लगभग 65% कोरोना पॉजिटिव मरीज इंदौर शहर में हैं.कोरोना के कहर से निपटने इंदौर में प्रति 10 लाख की आबादी पर 2 हजार सैंपल जांच कराए जा रहे हैं, जो देश में सर्वाधिक है. एपिसेंटर, कंटेनमेंट एरिया और बफर जोन के अलावा पूरे शहर के 26 लाख लोगों की जांच करने की योजना कलेक्टर ने बनाई है. पॉजिटिव मरीज़ों के आंकड़ों में इंदौर के बाद राजधानी भोपाल का नाम आता है.भोपाल में अकेले जहांगीराबाद इलाके में एक ही दिन में 10 हजार संदिग्धों की स्क्रीनिंग की गई और एक हजार लोगों के सैंपल लिए गए.भोपाल का जहांगीराबाद इलाका शहर का हाई रिस्क ज़ोन बना हुआ है.

मास्क और जागरुकता ज़रूरी
राज्य में कोरोना के कहर से जनता को बचाने के लिए सरकार ने चेहरे को ढंकने और मास्क पहनने के आदेश जारी किए है.आदेश में कहा गया है कि घर से बाहर निकलते समय हर व्यक्ति को मास्क पहनना अनिवार्य होगा.मास्क उपलब्ध ना होने पर रुमाल, दुपट्टा या गमछा का भी प्रयोग किया जा सकता है.बिना मास्क के पब्लिक प्लेस पर पाए जाने पर हेल्थ एक्ट का उलंघन माना जाएगा और दोषी पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.कोरोना के कहर से बचने के लिए ज़रूरी है जनता जागरूक और सतर्क रहे.

ये भी पढ़ें-

इंदौर में कोरोना का कहर : एंबुलेंस के तौर पर इस्तेमाल होंगी OLA कैब

शिवराज सिंह चौहान के नाम दर्ज हुआ यह अनचाहा रिकॉर्ड
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज