Corona की तीसरी लहर: शहर के 5 अस्पतालों में तैयारियां शुरू, जानिए कहां कितने बढ़ेंगे बेड

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां की जा रही हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां की जा रही हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona की तीसरी लहर: मप्र की राजधानी भोपाल के 5 बड़े अस्पतालों में तैयारियां शुरू हो गई हैं. यहां ऑक्सीजन बैड बढ़ाए जाएंगे. इन अस्पतालों के फाइन इयर के स्टूडेंट्स भी कोविड मरीजों की देखभाल करेंगे.

  • Last Updated: May 13, 2021, 3:55 PM IST
  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश में लगातार बेकाबू होते कोरोना की दूसरी लहर के बाद तीसरी लहर से लड़ने की तैयारियां शुरू हो गई हैं. तीसरी लहर से बचने के लिए भोपाल के पांच बड़े मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन बेड की संख्या बढ़ाई जा रही है. ऑक्सीजन बेड बढ़ाने के साथ-साथ मेडिकल कॉलेज खुद के ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट और स्टोरेज प्लांट को लगाने की तैयारियों में जुट गए हैं.

जानकारी के मुताबिक, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सरकार को कोरोना की तीसरी लहर के बारे में चेतवनी दी है. उनके मुताबिक, कोरोना की तीसरी लहर दूसरी लहर से ज्यादा भयावह हो सकती है. इस चेतावनी के बाद भोपाल के हमीदिया अस्पताल, चिरायु अस्पताल, RKDF मेडिकल कॉलेज, LN मेडिकल कॉलेज और पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में 1885 ऑक्सीजन बेड बढ़ाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं.

अस्पतालों में बढ़ाए जाएंगे इतने बेड

बता दें, हमीदिया अस्पताल में फिलहाल 680 बेड हैं, यहां 210 बेड बढ़ाए जाएंगे, RKDF मेडिकल कॉलेज 225 बेड हैं, यहां 525 बेड बढ़ाए जाएंगे, LN मेडिकल कॉलेज में 700 बेड हैं, यहां 350 बेड बढ़ाए जाएंगे, पीपुल्स में 300 बेड हैं, यहां 450 बेड बढ़ाने की तैयारी है और चिरायु में 950 बेड हैं, यहां 350बेड बढ़ाने की तैयारियां की जा रही हैं.
फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स लेंगे ट्रेनिंग

कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए मेडिकल, डेंटल और नर्सिंग के थर्ड ईयर और फाइनल ईयर के छात्रों को भी कोविड मरीजों के इलाज के लिए तैयार किया जाएगा. थर्ड ईयर- फाइनल ईयर के छात्रों को कोरोना के इलाज में सहयोग करने से लिए पहले ट्रेनिंग दी जाएगी. ट्रेनिंग मॉड्यूल के आधार पर फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स को ट्रेनिंग देकर कोविड वार्ड में जिम्मेदारियां दी जाएगी.

हर सप्ताह होगा तैयारियों का रिव्यू



कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए हर स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं. चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग का कहना है कि अस्पतालों को इलाज के लिए उपकरण और बेड बढ़ाने में कोई दिक्कत ना हो, इसके लिए अभी से प्लानिंग की जा रही है. हर हफ्ते तैयारियों को लेकर रिव्यू किया जाएगा. शहर के मेडिकल कॉलेजों के साथ-साथ छोटे अस्पतालों की तैयारियों का भी रिव्यू किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज