Assembly Banner 2021

119 गर्भवती महिलाओं के कराए कोरोना टेस्ट में 5 निकलीं पॉजिटिव, 3 की हुई सुरक्षित डिलिवरी

अब तक भोपाल एम्स में 119 गर्भवती महिलाओं की जांच की गई है जिनमें से पांच कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं

अब तक भोपाल एम्स में 119 गर्भवती महिलाओं की जांच की गई है जिनमें से पांच कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं

अप्रैल महीने से अब तक एम्स भोपाल (AIIMS Bhopal) में भर्ती होने वाली कुल 119 गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच (Corona Test) की गई. इनमें से पांच महिलाएं पॉजिटिव पाई गईं. पांच में से तीन महिलाओं की डिलिवरी हो चुकी है. दो महिलाओं ने नॉर्मल डिलिवरी से जरिए बच्चे को जन्म दिया जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई

  • Share this:
भोपाल. कोरोना संक्रमण (Corona Virus) काल में एम्स भोपाल (AIIIMS Bhopal) विशेष तौर पर मरीजों के ट्रीटमेंट के लिए गाइडलाइन के अनुरूप व्यवस्थाएं मुहैया करा रहा है. अब जबकि शहर में कोरोना संक्रमण अपने पीक पर आता दिखाई दे रहा है तो कोरोना के संदिग्ध या संक्रमित मरीजों के लिए एक ऑपरेशन थियेटर सहित स्पेशल कोविड प्रसव ईकाई संचालित की जा रही है. अब तक एम्स में 119 गर्भवती महिलाओं की जांच की गई है जिनमें से पांच कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाई गई हैं. इनमें से तीन महिलाओं की डिलिवरी कराई गई. दो प्रसूताओं को सामान्य प्रसव हुआ. जिसके बाद मां और बच्चे को डिस्चार्ज कर दिया गया.

एम्स का स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग कोरोना महामारी के संकटकाल में गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व और पश्चात (एएनसी/पीएनसी) देखभाल के लिए बेहतर इंतजाम कर रहा है. कोरोना की शुरुआत से ही या कहें तो मार्च महीने में ही एम्स में गर्भवती महिलाओं के सुरक्षित प्रसव के लिए जरूरी संसाधनों और सेवाओं की व्यवस्थाओं पर ध्यान देते हुए उपलब्धता तय कर ली गई थी.

कोरोना संक्रमित नवजात की देखभाल में लगा एम्स
अप्रैल महीने से अब तक अस्पताल में भर्ती होने वाली कुल 119 गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच की गई है. इनमें से पांच महिलाएं पॉजिटिव पाई गईं. पांच में से तीन महिलाओं की डिलिवरी हो चुकी है. दो महिलाओं ने नॉर्मल डिलिवरी से जरिए बच्चे को जन्म दिया जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. उनके नवजात शिशुओं की कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है. नवजात शिशु स्वस्थ हैं.
वहीं एक गर्भवती महिला की सिजेरियन डिलिवरी हुई थी. उनके स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है. इनके बच्चे की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है. बाल रोग एवं नियोनेटोलॉजी दल कोरोना संक्रमित बच्चे की देखभाल में लगा है. इसके अलावा पांच में से दो महिलाओं की डिलिवरी होनी अभी बाकी है. इनमें से एक महिला को डिलिवरी के लिए हाल ही में भर्ती किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज