Corona Effect: ...तो मियां-बीवी के राज़ी होने पर भी निकाह नहीं पढ़ाएंगे काज़ी, पढ़ें गाइडलाइन की मुख्‍य बातें

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

मस्जिद कमेटी (Mosque committee) ने निकाह के लिए नयी गाइडलाइन जारी की है.

  • Share this:
भोपाल. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के हालात के साथ-साथ सामाजिक नियम कानून भी बदल रहे हैं. इससे बचाव के लिए अब मस्जिद कमेटी (Mosque Committee) ने निकाह का नया रूल बना दिया है. उसने नयी गाइडलाइन जारी की है. निकाह में अब मस्जिद में दोनों पक्षों के 20-20 लोग ही शामिल हो सकेंगे. अगर इससे ज़्यादा लोग आए तो काज़ी निकाह (Nikah) नहीं कराएंगे.

कोरोना संक्रमण के मामले शहर में बढ़ते चले जा रहे हैं. इससे बचाव के लिए मस्जिद कमेटी ने निकाह के लिए नयी गाइडलाइन जारी की है. इसके मुताबिक अब मस्जिदों में होने वाले निकाह में दोनों पक्षों के 20-20 से ज्यादा लोग शामिल नहीं होंगे. अगर दोनों ओर से इससे ज़्यादा लोग पहुंचे तो काज़ी या निकाह खां निकाह नहीं पढ़ाएंगे.

सावधानी ही बचाव
कमेटी का कहना है अनलॉक के बाद और सतर्क रहने की जरूरत है. चूंकि अभी कोरोना का वायरस खत्म नहीं हुआ है और ना ही इसको खत्म करने की दवा इजाद हुई है, इसलिए निकाह के समय लोगों को इंफेक्शन के प्रति सचेत रहने की ज़रूरत है. निकाह आयोजन में लोग जाने-अनजाने में फिजिकली क्लोज़ हो जाते हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना मुश्किल हो जाता है. ज़रा सी लापरवाही महंगी पड़ सकती है. इसलिए मस्जिद कमेटी ने सभी मस्जिद समितियों को 6 बिंदुओं की एक गाइडलाइन भेजी है.
ये भी पढ़ें-Corona Effect : MP के स्कूलों में लागू हो सकता है ऑड-ईवन फॉर्मूला



भोपाल में कोरोना से मरने वालों में ज़्यादातर गैस त्रासदी के पीड़ित, एक रिपोर्ट का दावा

गाइडलाइन की मुख्य बातें
-दोनों पक्षों के 20-20 लोग ही आयोजन में हो सकेंगे शामिल.
-ताजुल मसाजिद सहित बड़ी मस्जिदों में एक दिन में तीन से ज्यादा निकाह की अनुमति नहीं होगी.
-शहर काज़ी और अन्य काज़ी से कहा गया है कि मानव स्वास्थ्य की रक्षा के लिए भीड़ दिखाई देने पर वे निकाह न पढ़ाएं.
-निकाह में शामिल होने वालों को वज़ू भी घर से करके आना होगा.
-मास्क पहनना अनिवार्य होगा.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज