लाइव टीवी

अरबपति अधिकारी आलोक खरे पर मेहरबान सरकार! बीजेपी ने कहा-सब अजब-ग़ज़ब है

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 23, 2019, 3:15 PM IST
अरबपति अधिकारी आलोक खरे पर मेहरबान सरकार! बीजेपी ने कहा-सब अजब-ग़ज़ब है
आलोक खरे के ठिकानों पर लोकायुक्त पुलिस के छापे में 150 करोड़ की संपत्ति का ख़ुलासा हुआ था.

सहायक आयुक्त आबकारी (Assistant Commissioner Excise) आलोक खरे (alok khare) के ठिकानों पर पिछले हफ्ते लोकायुक्त पुलिस (lokayukt police) ने छापा मारा था. लोकायुक्त की 7 टीमों ने प्रदेश के अलग-अलग शहरों में खरे के 5 ठिकाने खंगाले थे. उसमें खरे की 150 करोड़ से ज़्यादा की काली कमाई (black money) का ख़ुलासा हुआ था.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के अरबपति आबकारी अधिकारी (Excise Officer) आलोक खरे (alok khare) का न निलंबन हुआ ना बर्ख़ास्तगी. मेहरबानी ऐसी कि इंदौर (indore) से तबादला (transfer) कर भोपाल संभाग के उड़न दस्ते (Flying squad) की ज़िम्मेदारी दे दी गयी है. खरे की इस पोस्टिंग से सब चौंक गए हैं. बीजेपी (bjp) तो कमलनाथ सरकार (kamalnath government) को अजब-ग़ज़ब बता रही है.

150 करोड़ का आसामी अधिकारी
जिस अधिकारी के पास करोड़ों की काली कमाई निकली. मध्य प्रदेश सरकार उस पर अब भी मेहरबान है. सहायक आयुक्त आबकारी आलोक खरे के ठिकानों पर पिछले हफ्ते लोकायुक्त पुलिस ने छापा मारा था. लोकायुक्त की 7 टीमों ने प्रदेश के अलग-अलग शहरों में खरे के 5 ठिकाने खंगाले थे. उसमें खरे की 150 करोड़ से ज़्यादा की काली कमाई का ख़ुलासा हुआ था. दर्जनों प्लॉट, आलीशान बंगले, जे़वरात के साथ 10 लाख का कुत्ता भी उनके घर मिला था. उसके बाद उम्मीद थी कि सरकार खरे के ख़िलाफ सख़्त एक्शन लेगी.
काली कमाई का इनाम

आय से अधिक संपत्ति के मामले में फंसे आलोक खरे को आबकारी विभाग ने इनाम दिया है.विभाग ने सस्पेंड करने के बजाए भोपाल संभाग के उड़नदस्ते की जिम्मेदारी दे दी है. छापे की कार्रवाई के बाद लोकायुक्त ने खरे पर कार्रवाई के लिए विभाग को पत्र भी लिखा था. लेकिन सब बेअसर है.
भ्रष्ट अफसर के बचाव में उतरे मंत्री
आबकारी मंत्री बृजेन्द्र  सिंह राठौर का कहना है खरे पर मेहरबानी का सवाल ही नहीं है. पहले ऐसे कई उदाहरण सामने आए हैं कि जिनके खिलाफ ज्यादा कार्रवाई हुई उन्हें कोर्ट से स्टे मिला है.खरे के खिलाफ अभी चालान पेश नहीं हुआ है, जिस दिन कार्रवाई होगी उस दिन बड़ा एक्शन होगा.बृजेन्द्र सिंह राठौर के साथ जनसंपर्क मंत्री पी सी शर्मा ने भी विभाग की कार्रवाई का बचाव किया.
Loading...

खरे को सरकार ने पुरस्कृत किया-विपक्ष
आलोक खरे के मामले में अब विपक्ष को मौका मिल गया है.पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा ये अजब-गजब सरकार है, जो पकड़े जा रहे हैं उन्हें ही दूसरों को पकड़ने की जिम्मेदारी दी जा रही है.सज़ा देने के बजाय ऐसे अफसर को पुरस्कृत किया जा रहा है.
क्या है मामला?
लोकायुक्त की अलग-अलग टीम ने आलोक खरे के छतरपुर स्थित घर के साथ इंदौर, भोपाल और रायसेन में ठिकानों पर छापा मार कर नगदी समेत 150 करोड़ से ज़्यादा की बेनामी संपत्ति का खुलासा किया था.कार्रवाई के दौरान कई जिलों में आलोक खरे की 24 से ज्यादा प्रॉपर्टी मिली थीं. आय से अधिक संपत्ति के मामले में उनके खिलाफ लोकायुक्त जांच जारी है.खरे के बैंक लॉकर्स खंगाले गए.कई दस्तावेज़ भी मिले.​लोकायुक्त ने भ्रष्ट अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर आबकारी विभाग को पत्र भी लिखा था.

ये भी पढ़ें-Black Money :आलोक खरे के घर मिला 1 करोड़ का सामान,आज इंदौर के फ्लैट की तलाशी

आलोक खरे की डायरी खोलेगी राज़ : कई नेता और आला अफसर होंगे बेनकाब!

कल दिग्विजय सिंह के घर धरना,आज शिवराज से मुलाक़ात! क्या चाहते हैं लक्ष्मण सिंह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 2:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...