भोपाल यूनिवर्सिटी में शुरू हुआ परफेक्ट बहू का कोर्स, सोशल मीडिया पर उड़ा मजाक

सामाजिक एवं नैतिक मूल्यों पर कराये जाने वाले इस कोर्स का नाम क्या रखना है, यह अब तक तय नहीं हुआ है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 15, 2018, 5:27 PM IST
भोपाल यूनिवर्सिटी में शुरू हुआ परफेक्ट बहू का कोर्स, सोशल मीडिया पर उड़ा मजाक
परफेक्ट बहू का कोर्स शुरू (प्रतिकात्मक फोटो)
News18 Madhya Pradesh
Updated: September 15, 2018, 5:27 PM IST
राजधानी भोपाल की बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी आजकल सोशल मीडिया पर छाई हुई है.  इस बज़ का कारण है कि यूनिवर्सिटी में जल्द ही परिवारों को टूटने से बचाने के लिए परफेक्ट बहू के कोर्स की शुरुआत होने वाली है. ये एक सर्टिफिकेट कोर्स होगा जिसमें  शादी होने के बाद लड़कियां ‘आदर्श पत्नी’ एवं लड़के ‘आदर्श पति’ बन कर आदर्श समाज की संरचना कैसे करें ये बताया जाएगा. हालांकि, सामाजिक एवं नैतिक मूल्यों पर कराये जाने वाले इस कोर्स का नाम क्या रखना है, यह अब तक तय नहीं हुआ है.

लोगों ने सोशल मीडिया पर इस कोर्स पर आश्चर्य जताना भी शुरू कर दिया. उनका सवाल यहीं था कि ऐसा कोर्स शुरू करना कितना सही है.



Bhopal's #Barkatullah #University plans to start a #course on "Good #wife"(how to become an ideal daughter-in-law). I wonder, WHO WILL BE ELIGIBLE PROFS to teach this course? .Any certainty that pass-outs of this course will be good wife for the whole life?.#HRDMinistry




बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डी सी गुप्ता ने इस मामले में सफाई दी है.  शनिवार को मीडिया को बताया, ‘‘हमारा विश्वविद्यालय परिवारों को टूटने से बचाने के लिए अगले सत्र से एक नया सर्टिफिकेट कोर्स शुरू करेगा. यह कोर्स तीन महीने का होगा. इस कोर्स को हम इसलिये शुरू कर रहे हैं क्योंकि हमें ससक्त परिवार एवं अच्छे समाज की संरचना करनी है.’’ उन्होंने जोर देते हुए कहा, ‘‘यह कोर्स लड़के-लड़कियों दोनों के लिये होगा. हालांकि, लड़कियों के लिए यह अधिक फायदेमंद होगा, क्योंकि उन्हें शादी के बाद अपने आप को दूसरे परिवार (अपने ससुराल) में ढालना पड़ता है.’’

कांग्रेस संगठन में फेरबदल, महेन्द्र बौद्ध को SC मोर्चे की ज़िम्मेदारी, शशि कर्णावत उपाध्यक्ष

गुप्ता ने बताया, ‘‘यह कहना गलत है कि यह कोर्स बहुओं (दुल्हनों) के लिये है. इससे लड़कों को भी सशक्त परिवार बनाने में मदद मिलेगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहले बैच में 30 छात्र-छात्राओं को दाखिला मिलेगा.’’ गुप्ता ने बताया कि विश्वविद्यालय के तीन विभाग मनोविज्ञान, समाजशास्त्र और महिला शिक्षा इस सर्टिफिकेट कोर्स को तैयार करेंगे। यह कोर्स मुख्य रूप से सामाजिक एवं नैतिक मूल्यों पर आधारित होगा.

एससी-एसटी एक्‍ट के विरोध में अशोकनगर में सामूहिक मुंडन

उन्होंने कहा, ‘‘यह समय की मांग है, क्योंकि परिवार आज छोटी-छोटी बातों को लेकर टूट रहे हैं. यह कोर्स परिवारों को टूटने से बचाने की दिशा में एक बड़ा कदम होगा.’’
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर