जिंदगी भर जेल में सड़ेंगे SIMI आतंकी, इस केस में हैं अंदर

कोर्ट ने सिमी आतंकियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. (फाइल फोटो).

कोर्ट ने सिमी आतंकियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. (फाइल फोटो).

देवास में 11 साल पहले बैंक लूटने वाले सिमी आतंकवादियों को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. 5 आतंकियों में से 3 का पहले  ही एनकाउंटर हो चुका है. बाकी 2 आतंकी भोपाल में भी बहुचर्चित बैंक डकैती में पहले से ही सजायाफ्ता हैं.

  • Last Updated: December 12, 2020, 7:52 AM IST
  • Share this:

भोपाल. जिला कोर्ट ने देवास बैंक डकैती केस में दोषी 5 सिमी आतंकियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. इनमें से तीन आतंकियों का पहले ही एनकाउंटर किया जा चुका है.

स्पेशल कोर्ट एनआईए मुकेश कुमार ने देवास में 2009 को हुए बैंक डकैती केस में आरोपी अबु फैजल और इकरार शेख को धारा 395/397 भादवि में आजीवन कारावास और 1000-1000 रुपय के अर्थदण्ड से दंडित किया. इस दौरान अभियोजन ने जो साक्ष्य और तर्क रखे उससे कोर्ट सहमत हुई और कठोर सजा का निर्णय लिया. इस मामले में इकरार शेख ने साक्षियों की पहचान की, जबकि आरोपी अबु फैजल को फिंगर प्रिंट घटना स्थल से प्राप्त हुए थे. विवेचना के दौरान फिंगर प्रिंट की जांच कराई गई जो सही निकली. गौरतलब है कि ये आरोपी पहले से ही भोपाल जेल में बंद हैं. इन्होंने यहां के बहुचर्चित मणिपुरम गोल्ड बैंक डकैती को अंजाम दिया था.

यह था मामला

गौरतलब है कि बैंक डकैती से जुड़ा यह मामला देवास जिले का था. इसे हाईकोर्ट ने जबलपुर भोपाल ट्रांसफर किया था. भोपाल के जिला अभियोजन अधिकारी ने बताया कि देवास में 24 अगस्त 2009 को थाना विजयागंज मंडी में अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामल दर्ज हुआ था. बैंक ऑफ इंडया की विजयागंज मंडी शाखा में शाम 4.30 बजे जब बैंक का कस्टमर से जुड़ा काम पूरा हो गया था उस वक्त चार लोग बैंक के अंदर आए, इनमें से 3 ने मंकी कैप पहन रखी थी, जबकि चौथा व्यक्ति गहरे सांवले रंग का था. ये आरोपी बैंक से 9 लाख 62 हजार रुपये लूटकर ले गए थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज