Home /News /madhya-pradesh /

MP में कोरोना से मौत पर मुआवजा और अनुग्रह राशि लेने के लिए दो फॉर्म, जानें किसकी कैसी है प्रक्रिया?

MP में कोरोना से मौत पर मुआवजा और अनुग्रह राशि लेने के लिए दो फॉर्म, जानें किसकी कैसी है प्रक्रिया?

मप्र सरकार ने कहा है कि डेथ सर्टिफिकेट पर मौत का कारण 'कोरोना' न लिखा होने पर भी 50 हजार का मुआवजा मिलेगा. (File)

मप्र सरकार ने कहा है कि डेथ सर्टिफिकेट पर मौत का कारण 'कोरोना' न लिखा होने पर भी 50 हजार का मुआवजा मिलेगा. (File)

MP Corona Death Compensation News: मध्य प्रदेश में कोरोना से हुई मौत पर मुआवजे की प्रक्रिया शुरू हो गई है. परिजनों को 50 हजार की अनुग्रह राशि मिलेगी. राज्य सरकार ने इसके लिए गाइडलाइन भी जारी कर दी है. राहत की बात यह है कि अब मुआवजा पाने के लिए डेथ सर्टिफिकेट में कोविड से मौत दर्ज होना जरूरी नहीं है. हां, यह जरूर है, जिनके पास डेथ सर्टिफिकेट पर मौत का कारण स्पष्ट नहीं है, उन्हें अलग फॉर्म भरना होगा. अनुग्रह राशि लेने के लिए आवेदन आवश्यक दस्तावेजों के साथ जिला कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत करना होगा. कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा अनुग्रह राशि स्वीकृत की जाएगी. आवेदन का निराकरण 30 दिन में किया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश सरकार ने कोरोना से हुई मौत पर परिवार को 50 हजार रुपये की मुआवजा देने की घोषणा के साथ ही अब अनुग्रह राशि लेने के लिए फॉर्मेट भी जारी किए हैं. पीड़ित परिवार को ये आर्थिक मदद लेने के लिए दो अलग-अलग फॉर्म भरने होंगे. जिनके पास कोरोना से मृत्यु का प्रमाणपत्र है यानी RTPCR रिपोर्ट है, वो अलग फॉर्म भरेंगे और जिनके पास जांच रिपोर्ट और मौत का कारण नहीं है, उन्हें अलग फॉर्म भरना होगा. फॉर्म पर कलेक्टर की अध्यक्षता वाली कमेटी पहले विचार करेगी. तथ्यों से संतुष्ट होने के बाद प्रमाणपत्र देगी. इस आधार पर कमेटी तय करेगी कि पीड़ित परिवार को मुआवजा देना चाहिए या नहीं.

गौरतलब है कि सरकार के आदेश के मुताबिक, मुआवजा पाने के लिए अब डेथ सर्टिफिकेट में कोविड से मौत दर्ज होना जरूरी नहीं. कमेटी फॉर्म मिलने के बाद उसके दस्तावेजों को प्रमाणित करेगी. दस्तावेज प्रमाणित करने के इस कमेटी को दे दिए गए हैं. इस कमेटी को मुआवजे पर 30 दिन में फैसला करना होगा. इस बारे में नए नियम 31 दिसंबर तक लागू रहेंगे.

गौरतलब है कि सरकारी रिकॉर्ड के हिसाब से अभी तक 10526 मौंतें कोरोना से हुई हैं, लेकिन इन मौतों के अलावा भी कई लोगों ने कोरोना वायरस से दम तोड़ा है. उनके सर्टिफिकेट में इसका जिक्र नहीं है. अनुग्रह राशि प्राप्त करने के लिए आवेदन आवश्यक दस्तावेजों के साथ जिला कलेक्टर को प्रस्तुत करना होगा. कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा अनुग्रह राशि स्वीकृत की जाएगी. आवेदन का निराकरण 30 दिवस की अवधि में किया जाएगा. प्राधिकरण यह सुनिश्चित करेगा कि दावे के सत्यापन, स्वीकृति एवं अनुग्रह सहायता के भुगतान की सम्पूर्ण प्रक्रिया सुदृढ़, जन-सुलभ एवं सरल हो.

आवेदक के बैंक खाते में होगा भुगतान

अनुग्रह राशि का भुगतान आवेदक के बैंक खाते में किया जाएगा. अनुग्रह राशि के लिये राज्य शासन द्वारा कोविड-19 से मृत्यु की परिभाषा को स्पष्ट किया गया है. ऐसे मृत्यु के प्रकरण, जो निर्धारित मृत्यु परिभाषा की पूर्ति नहीं करते हैं, उनका निराकरण जिला-स्तरीय समिति द्वारा किया जाएगा. कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु के लिए दी जाने वाली अनुग्रह राशि के लिए नियत तिथि की गणना देश में कोरोना के पहले प्रकरण के प्रकाश में आने की तारीख से होगी.

Tags: Bhopal news, COVID 19, Mp news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर